[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
देश

हिसार: कॉल डिटेल से काले कुबेरों की तलाश

  • जांच दीमापुर में पकड़ा गया था 3.5 करोड़ काला धन, संदिग्धों की मोबाइल कॉल डिटेल खंगाल रही पुलिस
  • हरियाणा पुलिस ने एविएशन अथॉरिटी को लिखा पत्र
  • 22 नवंबर को चार्टर्ड विमान से बरामद हुए थे करोड़ों के पुराने नोट

Hisar, Sandeep Singhmar: हिसार फ्लाइंग क्लब से 22 नवंबर को साढ़े तीन करोड़ के 500 व 1000 के नोटों के साथ उड़ान भरने वाले चार्टर्ड विमान को नागालैंड में पकड़े जाने के बाद हिसार पुलिस ने नोटबंदी के बाद हुई सभी उड़ानों की जानकारी जुटानी शुरू कर दी है। इस मामले में पुलिस अनेक संदिग्ध लोगों की कॉल डिटेल भी खंगाल रही है। पुलिस एविएशन अथॉरिटी को इस बारे में पत्र लिख चुकी है। अब तक सबसे बड़ा सवाल यह बना हुआ है कि आखिर नागालैंड के दीमापुर में पकड़ी गई इतनी बड़ी राशि किसकी थी?
प्रारंभिक जांच में पुलिस ने जांच अधिकारी ने फ्लाइंग क्लब के अधिकारी कै΄टन शैलेन्द्र हुड्डा की स्टेटमेंट से भी संतुष्ट नहीं हैं। पुलिस के मुताबिक कै΄टन शैलेन्द्र हुड्डा ने कहा कि उनके पास चैकिंग करने का कोई अधिकार नहीं है। यह बात गले नहीं उतर रही है। एविशन अधिकारी के इस जवाब से जांच अधिकारी डीएसपी जयभगवान ने कहा कि जब वे जांच नहंी कर सकते तो अब स्थानीय पुलिस को भविष्य में उड़ानों की जांच के लिए क्यों लिख रहे हैं? पुलिस अब इस मामले में एविएशन अथॉरिटी से एक्ट की पूरी जानकारी मांग रही है, ताकि इस मामले की तह में जाया जा सके।

सभी उड़ानों की जुटाई जाएगी जानकारी
दूसरी तरफ इस मामले में पुलिस अब नोटबंदी के ऐलान से लेकर चार्टर्ड विमान के नागालैंड के दीमापुर में पकड़े जाने तक की सभी उड़ानों के बारे में भी जानकारी जुटाएगी। इतना ही नहीं, पुलिस ने इस मामले में अनेक संदिग्ध लोगों की कॉल डिटेल भी कलैक्ट करने का फैसला लिया है। डीएसपी भगवान दास ने कहा कि इस मामले में हर पहलू की बारिकी से जांच की जा रही है। अभी तक की जांच प्रक्रिया में पुलिस ने हिसार स्थित फ्लाइंग क्लब के प्रमुख कै΄टन शैलेन्द्र हुड्डा, टाटा सूमो के चालक से स्टेटमेंट ले ली है।


इन तीन को भेजे गए हैं नोटिस

इस मामले में पुलिस ने सौर्य एयरोनॉटिक्स के प्रमुख संदीप सर्राफ, अमरजीत और एयरकार एयरलाइन्स प्राइवेट लिमिटेड के प्रमुख केसी दत्ता को इस मामले में नोटिस जारी किया हुआ है। उन्हें मंगलवार को जांच के लिए बुलाया गया है। लेकिन खास बात यह है कि अभी तक तीनों की तरफ से पुलिस को कोई रिसीविंग नहीं मिली है। यदि ये जांच में शामिल नहीं होते हैं तो इनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है। ज्ञात रहे कि चार्टर्ड विमाान के जरिए साढ़े तीन करोड़ की नकदी ले जाए जाने के संगीन मामले का खुलासा आईबी की टीम के जरिए 22 नवंबर की देर रात बेहद गोपनीय तरीके से हुआ था। इसी मामले में आईबी के अधिकारी हिसार भी आए थे, जिसके बाद एयरपोर्ट के अधिकारियों में सनसनी फैल गई थी।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top