खेल

भारतीय महिलाओं की हार की हैट्रिक

Indian Team, Lose, New Zealand, Hockey

न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज

पुकेकोहे (न्यूजीलैंड)। भारतीय सीनियर महिला हॉकी टीम को कड़े संघर्ष के बावजूद मेजबान न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज के बुधवार को खेले गए तीसरे मुकाबले में 2-3 से हार झेलनी पड़ी जो उसकी लगातार तीसरी हार है। भारत को न्यूजीलैंड के हाथों पिछले मैच में 2-8 से करारी हार झेलनी पड़ी थी जबकि पहला मैच वह 1-4 से हार गई थी। भारतीय महिलाओं ने हालांकि तीसरे मुकाबले में काफी संघर्ष दिखाया लेकिन इस दीप ग्रेस एका और मोनिका के दो गोल के बावजूद उसे एक गोल के करीबी अंतर से हार झेलनी पड़ी। मेहमान टीम ने पिछले मैच की तुलना में इस बार काफी बेहतर खेल दिखाया और अच्छे पास तथा आक्रमण दिखाया।

कीवी टीम ने भारतीय कप्तान रानी की रणनीति को विफल कर दिया

मैच के पहले क्वार्टर में उसकी आक्रमक खेलने की रणनीति काम आई और एका ने नौंवें ही मिनट में पेनल्टी कार्नर पर गोल दाग दिया। हालांकि मेजबान टीम ने जल्द ही बराबरी का गोल मारा और 13वें मिनट में एला गुनसन ने स्कोर बराबर पहुंचा दिया। इसके दो मिनट बाद ही डियाना रिची ने कप्तान स्टेसी मिशेलसेन की मदद से कीवी टीम के लिए दूसरा गोल कर दिया और पहला क्वार्टर न्यूजीलैंड ने 2-1 की बढ़त के साथ समाप्त किया।

मैच के दूसरे क्वार्टर में भारत ने दो बढ़िया मौके हासिल किए और उसे 26वें मिनट में एक के बाद एक दो पेनल्टी मिली। लेकिन ऊंची रैंकिंग की कीवी टीम ने भारतीय कप्तान रानी की रणनीति को विफल कर दिया। विपक्षी टीम के सर्किल में मौके बनाने में रानी ने अह्म भूमिका निभाई और रिवर्स हिट से गोल का जबरदस्त प्रयास किया लेकिन न्यूजीलैंड कीपर सैली रुदरफोर्ड ने भारतीय कप्तान के प्रयास को विफल कर दिया।

आखिरी समय में भी संघर्ष जारी

न्यूजीलैंड के लिए 39वें मिनट में शिलोह ग्लोन ने तीसरा गोल किया तो भारतीय कीपर सविता को कीवी स्ट्राइकरों ने व्यस्त रखा। हालांकि इसके बाद सविता ने न्यूजीलैंड को और गोल करने नहीं दिए। तीसरे क्वार्टर के तीन मिनट शेष रहते सविता ने फिर से न्यूजीलैंड को मिली पेनल्टी कार्नर बेकार की। पिछले मैच के चौथे क्वार्टर में जहां आठ मिनट के भीतर ही मेजबान टीम ने चार गोल दाग दिए थे इस बार भारत ने मजबूत रक्षापंक्ति से उसकी पुनरावृत्ति नहीं होने दी।

फाइनल हूटर से दो मिनट के कम समय में भारत को पेनल्टी मिली और इस मैच में भारतीय टीम ने अपनी रणनीतियों को कहीं बेहतर ढंग से लागू किया। आखिरी समय में भी संघर्ष जारी रखते हुए रानी ने मोनिका को गेंद पास की जिसने कोई गलती किए बिना 59वें मिनट में गोल कर हार के अंतर को कम कर दिया।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top