Breaking News

आत्महत्या के इरादे से सुखना झील में कूदी लड़की को कमांडो ने बचाया

जींद जिले का रहने वाला है कमांडो राकेश नैन

Chandigarh (Anil Kakkar). हरियाणा राज्यपाल के सुरक्षा में तैनात कमांडो राकेश कुमार नैन ने बहादुरी का परिचय देते हुए 17 अक्तूबर की शाम सुखना झील में आत्महत्या के इरादे से कूदी एक लड़की को बचा कर इंसानियत की मिसाल कायम की।

सच कहूँ से बात करते हुए कमांडो राकेश कुमार नैन ने बताया कि वे जींद जिले रहने वाले हैं तथा चंडीगढ़ में हरियाणा राज्यपाल की सुरक्षा में तैनात हैं। नैन ने बताया कि गत शाम वे सुखना झील के किनारे जागिंग कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने देखा कि सुखना झील के सुसाइड प्वाइंट पर 50-60 लोग एकत्र हैं तथा शोर मचा रहे हैं।

नैन ने कहा ‘‘मैंने जाकर देखा तो एक 20-22 साल की लड़की डूब रही थी और लोग आसपास खड़े तमाशा देख रहे थे। मैंने झील में छलांग लगा दी। लड़की शोर मचा रही थी कि मुझसे गलती हो गई मुझे बचा लो। जैसे ही मैंने उसे पानी से बाहर निकालने की कोशिश की तो घबराई लड़की ने मुझे पैरों से पकड़ लिया। जिसकी वजह से हम दोनों डूबने लगे। मैंने भी शोर मचाया लेकिन फिर भी हमारी मदद के लिए कोई नहीं आया। फिर मैंने हिम्मत कर ऊपरवाले को याद किया और लड़की से पैर छुड़वाए और जैसे-तैसे कर लड़की को किनारे पर ले आया। ’’

नैन के अनुसार लड़की काफी परेशान थी और जब बाहर निकाला तो बेहोश हो चुकी थी। उसे फर्स्ट एड दी गई जिससे उसे होश आ गया। इतने में वहां पीसीआर पहुंची और लड़की को साथ ले गई।

कमांडो नैन ने कहा कि उसे बहुत दुख हुआ कि 50-60 लोग केवल तमाशा देख रहे थे जबकि उसे बचाने की कोशिश किसी ने नहीं की। नैन ने कहा कि हालांकि बाद में लोगों ने उसके हौंसले की तारीफ की। लेकिन उसका मानना है कि इंसानियत के नाते लोग ऐसे हादसों पर तमाशाबीन बनने की बजाय मरते इंसान की जान बचाएं और आगे आकर हौंसला दिखाए।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top