पंजाब

अब लिंग निर्धारण केंद्रों पर रहेगी सरकार की नजर

gender assessment

स्वास्थ्य विभाग को तत्काल कड़ी कार्रवाई के आदेश

चंडीगढ़ (अश्वनी चावला)। gender assessment पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने राज्य में कथित रूप से काम कर रहे सभी लिंग निर्धारण केंद्रों पर कार्रवाई करने के आदेश दिए।

gender assessment हरियाणा सीएम की अपील पर कैप्टन की कार्रवाई

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि अवैध लिंग निर्धारण केंद्रों से सख्ती से निपटने की हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की अपील पर प्रतिक्रिया देते हुए कैप्टन ने राज्य स्वास्थ्य विभाग को इस प्रकार की सभी गतिविधियों के खिलाफ तत्काल एवं कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री ने विभाग के अधिकारियों को यह स्पष्ट कर दिया है कि इस मामले में किसी भी ढिलाई को अपराध में सहभागिता माना जाएगा और कार्रवाई में लापरवाही का दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

gender assessment कैप्टन की पुलिस को सख्त चेतावनी

कैप्टन ने पुलिस को भी निर्देश दिया कि वह छापे मारने में स्वास्थ्य विभाग का पूरा सहयोग करें ताकि लिंग निर्धारण परीक्षण करके कानून की अवहेलना करने वाले स्वास्थ्य केंद्रों की पहचान की जा सके। कैप्टन ने चेतावनी दी कि यदि कोई चिकित्सक, नर्स, सहायक चिकित्सा कर्मी और अन्य इस प्रकार के अवैध परीक्षण में शामिल पाया जाता है तो उसके खिलाफ तत्काल मामला दर्ज किया जाएगा और इसके बाद कानून के तहत उसे सजा दी जाएगी ताकि उदाहरण पेश किया जा सके।

प्रदेश सरकार चुनावी वादों को पूरा करेगी

मुख्यमंत्री ने उस मीडिया रिपोर्ट का भी संज्ञान लिया है जिनमें कहा गया है कि हरियाणा सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने पिछले 2 सालों में कई अवैध केंद्रों की पहचान करने के लिए पंजाब के जिलों में करीब 2 दर्जन छापे मारे हैं।

gender assessment बेटियों को पीएचडी तक मिलेगी मुफ्त शिक्षा

कैप्टन ने इसे एक गंभीर मामला बताते हुए कहा कि पूर्ववर्ती शिअद भाजपा सरकार के कार्यकाल में अराजकता के कारण यह स्थिति पैदा हुई और इसमें सुधार के लिए उनकी सरकार कड़ी मेहनत कर रही है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार बच्चियों के कल्याण के सभी चुनावी वादों को पूरा करेगी। लड़कियों को पहली कक्षा से पी.एच.डी. तक मुफ्त शिक्षा देने के लिए कदम पहले ही उठाए गए हैं।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top