राजस्थान

मारवाड़ घराने की पूर्व राजमाता कृष्णा कुमारी का अन्तिम संस्कार

राजनैतिक हस्तियों व समाज के प्रमुख लोगों ने किए श्रद्धासुमन अर्पित

जोधपुर।

मारवाड़ स्टेट पूर्व राजघराने की पूर्व राजमाता कृष्णा कुमारी का अन्तिम संस्कार सोमवार (Funeral Mother Marwar Krishna ) अपराह्न ऐतिहासिक स्थल जसवंत थड़ा परिसर में किया गया। उनकी अन्तिम यात्रा में प्रदेश भर से कई हस्तियों ने भाग लिया। अन्तिम संस्कार के दौरान ‘राजमाता अमर रहे’ शोक शब्द गूंजते रहे। अन्तिम यात्रा से पहले पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, केबिनेट मंत्री युनूस खान, राव राजेन्द्रसिंह, अशोक परनामी सहित प्रदेश के कई नेताओं ने उम्मेद भवन पहुंचकर पूर्व राजमाता के निधन पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र शेखावत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री राजनाथा सिंह की तरफ से पार्थिव देह पर पुष्प चक्र अर्पित किया। उनकी अन्तिम यात्रा एवं अन्तिम संस्कार में पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व सांसद गजसिंह, कृषि राज्य मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत, सैनाचार्य अचलानंद गिरी, केन्द्रीय विधि राज्य मंत्री पीपी चौधरी, महापौर घनश्याम ओझा, जिला प्रमुख पुनाराम चौधरी, मेघराज लोहिया सहित कई जनप्रतिनिधियों और पूर्व राजघराने के सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

अन्तिम यात्रा में प्रदेश भर से कई हस्तियों ने भाग लिया

मारवाड़ राजघराने की पूर्व राजमाता और जोधपुर की पूर्व सांसद कृष्णा कुमारी (92) का सोमवार  रात (Funeral Mother Marwar Krishna ) निधन हो गया। हार्ट अटैक के बाद उन्हें रविवार को गोयल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सोमवार रात को उन्हें फिर हार्ट अटैक आया। रात एक बजे तक पूर्व राजपरिवार के सूत्रों की ओर से उनकी हालत में सुधार बताया जा रहा था। लेकिन बाद में उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। रात 1.20 अस्पताल से यह दुखद खबर आई कि राजमाता कृष्णाकुमारी नहीं रहीं। कृष्णाकुमारी मूलतया गुजरात के ध्रांगध्रा राजघराने की राजकुमारी थीं। मारवाड़ के पूर्व महाराजा हनवंतसिंह से विवाह के बाद वे जोधपुर आई थीं। उनके तीन संतानें चंद्रेश कुमारी, शैलेश कुमारी और गजसिंह हैं। पूर्व राजमाता के निधन की सूचना पाकर समूचे मारवाड़ में शोक की लहर छा गयी। राजधराने के सूत्रों के अनुसार राजमाता का पार्थिव देह आज अपरान्ह डेढ बजे तक उम्मेद भवन में आम जनता के दर्शनार्थ रखा गया है जहां सवेरे से ही भारी संख्या में शोकाकुल लोग उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंच गये। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करने के लिए वे दोपहर जोधपुर पहुंची। एयर पोर्ट से सीधे वे उम्मेद भवन पहुंची और पार्थिव देह पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। उन्होंने राजपरिवार के सदस्यों से मुलाकात कर उन्हें संबल प्रदान किया।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top