Breaking News

बेरवाला के पास मिला 6 फीट, 5 क्विंटल वजनी जिंदा मिसाईल बम

  • रिहायशी इलाके से मात्र एक किलोमीटर की दूरी पर मिलने से सनसनी

Morni SachKahoon News:  मोरनी-पंचकूला मार्ग पर बेरवाला गांव के पास शनिवार को 6 फीट, 5 क्विंटल वजनी जिंदा मिसाईल बम मिलने से सनसनी फैल गई। मिसाईल बंब की खबर से इलाके में दहशत का महौल है। सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंच कर आर्मी को सूचित किया गया। सूचना मिलने के बाद पुलिस, आइटीबीपी, एयरफोर्स एवं अन्य प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए। बड़ी सावधानीपूर्वक बम शैल को कब्जे में ले लिया। जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह 11 बजे के आसपास बेरवाला गांव के लोगों ने चंडीमंदिर पुलिस को सूचना दी की गांव से मोरनी की तरफ जाते हुए माता के मंदिर के बास बाई तरफ जंगल में एक लोहे की मिसाईल बंब पड़ा है। जिसके बाद सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने आर्मी को सूचित किया, उन्होंने मौके पर पहुंच कर आर्मी और बम स्कवैड को घटना स्थल पर बुलाया गया है।
पास ही है स्कूल
जहां मिसाइल मिली है वहां से मात्र एक किलोमीटर दूर होली चाईलड स्कूल है जहां सैकड़ों बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। इससे पहले आधा किलोमीटर पर बेरवाला गांव है जहां सैकड़ों लोग रहते हंै। वहीं इस मार्ग पर रैड वुड होटल आदि अन्य व्यवसायिक भवन है। जहां सैकड़ों लोगों का दिन रात आना जाना रहता है। मोरनी पंचकूला के बेरवाला रिहायशी इलाके से करीब 500 मीटर की दुरी पर जंगलों में गिरा बंब मिला है।

बम पर लिखा है शाइन बिल्डर
मिसाईल बंब पर अग्रेजी में शाईन बिल्डर का नाम अंकित है। यह मिसाईल छह फुट के करीब लंबी है। जिसका वजन पांच किवटंल के आसपास बताया जा रहा है। जंगल में मिली को देखकर पुलिस और आर्मी हैरान है कि आखिर यह मिसाइल जंगल में कौन फैक गया। यह जिंदा मिसाईल बंब जंगल में कहां से और कैसे आया इसकी जांच में अर्मी,पुलिस,एयर फॉर्स व मौके पर जुटी है।

राजनीतिक प्रेरित बताया मामला
उधर सरपंच मिंटू शर्मा का कहना है कि राजनितिक दबाव के चलते फैक्ट्ररी संचालको ने उन पर दबाव बनाने के लिए मामला दर्ज करवाया हैै। जबकि उसने फैक्ट्ररीयो से निकलने वाले कैमिकल युक्त पानी को जमीन में छोडे जाने की जांच करवाने के लिए करीब तीन माह पहलें जिला उपायुक्त को शिकायत दी थी। उसी शिकायत के आधार पर हुई कार्यवाही से बचने के लिए फैक्ट्ररी संचालक अपने बचाव में उनके ऊपर झूठा मामला दर्ज करवाकर दबाव बनाना चहाते है। और उन्होने न्याय दिलाने के लिए विधायक रविन्द्र मच्छरौली के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा है।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top