[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
खेल

रैंकिंग के बजाय और खिताब जीतने पर ध्यान: मुगुरुजा

Garbiñe Muguruza, Focus, winning Titles, Ranking, Tennis

लंदन (एजेंसी)। अमेरिका की वीनस विलियम्स को विम्बलडन फाइनल में एकतरफा अंदाज में 7-5, 6-0 से हराकर विम्बलडन टेनिस चैंपियनशिप का महिला एकल खिताब जीतने वाली स्पेन की गरबाइन मुगुरुजा ने कहा है कि उनका लक्ष्य रैंकिंग के बारे में सोचने से ज्यादा और अधिक ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने का है। 15वीं रैंकिंग के साथ विम्बलडन में उतरने वाली मुगुरुजा का यह दूसरा ग्रैंड स्लेम खिताब है। इससे पहले उन्होंने 2016 में फ्रेंच ओपन का खिताब जीता था। विम्बलडन का खिताब अपने नाम करने के बाद डब्ल्यूटीए की अगली रैंकिंग में मुगुरुजा तेजी से उछाल के साथ पांचवें स्थान पर पहुंच जाएंगी।

नंबर एक बनना वाकई एक अलग अनुभूति

23 वर्षीय स्पेनी स्टार ने संवाददाताओं से कहा कि वह रैंकिंग के बारे में नहीं सोच रहीं हैं। नंबर एक, नंबर दो और नंबर तीन बनना मात्र अंकों का खेल है लेकिन जब आप ग्रैंड स्लेम जीतते हैं तो यह एक अविश्वसनीय अनुभूति होती है और इसकी किसी से तुलना नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि आप खिताबी सफर तक सभी मैच खेलते हैं और इस दौरान आप नंबर एक, नंबर दो, नंबर तीन किसी के भी खिलाफ खेल सकते हैं। नंबर एक बनना वाकई एक अलग अनुभूति होती होगी। मैं इस बारे में नहीं जानती लेकिन मैं यह निश्चित रुप से कह सकती हूं कि खिताब जीतना रैंकिंग में शीर्ष रहने से ज्यादा बेहतर अनुभव होगा।

कड़ी मेहनत पर ही विश्वास

मुगुरुजा ने कहा कि आपके खेल में उतार चढ़ाव के साथ आपकी रैंकिंग में परिवर्तन होता रहता है। यह स्थाई नहीं है लेकिन खिताबी जीत आपकी रिकार्ड बुक में दर्ज हो जाती है और यह स्थाई होती है। विम्बलडन जैसे बड़े टूर्नामेंटों में मेरी यही कोशिश रहती है कि मैं अंक गणनाओं से खुद को दूर ही रखूं। विम्बलडन की नई मल्लिका ने कहा कि विम्बलडन जैसे बड़े खिताब को जीतना निश्चित रुप से आपको और अधिक कामयाबी के लिए प्रेरित करने के लिए पर्याप्त है। मेरा लक्ष्य अब निश्चित रुप से वर्ष के अंतिम ग्रैंड स्लेम यूएस ओपन जीतने पर है क्योंकि आपके खाते में जितने अधिक ग्रैंड स्लेम खिताब होंगे, आप उतनी बड़ी ही खिलाड़ी मानी जाएंगी।

मुगुरुजा ने कहा कि जब आप खिताब जीतते हैं तो आपसे उम्मीदें बढ़ जाती हैं। मैं खुद से यही उम्मीद करती हूं कि मैं भविष्य में भी विनम्र रहूं और कड़ी मेहनत पर ही विश्वास करुं। मैं फाइनल में आक्रामक तरीके से खेल सकी और यहां जीत वाकई अविश्वसनीय रही। मैं आगे भी अपनी इसी लय को जारी रखने की कोशिश करुंगी।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top