फीचर्स

10+2 के बाद यहां मिलेगा ‘रोजगार’

Employment, Career, Student, HSC

10+2 यानी एचएससी पास करने के बाद ही विभिन्न क्षेत्रों
में खुलते हैं अवसर | Employment

करियर (Employment) बनाने के लिहाज से जून-जुलाई का महीना बेहद अहम माना जाता है। इन दो महीनों में जहां एसएससी, एचएससी, सीबीएसई, आईसीएसई, आईएससी और यूपीएसई एवं आईआईटी एग्जाम्स के रिजल्ट घोषित होते हैं।

वहीं, दूसरी ओर राज्य स्तर पर एफवाईजेसी, डिग्री, वोकेशनल और टेक्निकल कोर्सेज के लिए भी ऐडमिशन प्रोसेस शुरू होने के अलावे प्रतियोगी परीक्षाओं के दरवाजे खुल जाते हैं जिनमें प्रवेश लेने की पात्रता बारहवीं के बाद से ही शुरू होती है। इसलिए करियर एवं फ्यूचर के लिहाज से काफी अहम है 10+2 यानी एचएससी पास करना और इसके बाद ही विभिन्न क्षेत्रों में अवसर खुलते हैं।

12वीं पास होना आवश्यक

बदलते समय के साथ-साथ करियर बनाने के भी सेक्टर्स में बदलाव हो रहे हैं। मौजूदा हालत ऐसी नहीं रही कि जिसमें पहले स्कूल और फिर कॉलेज की लंबी एजुकेशनल प्रोसेस से गुजरने के बाद ही करियर के बारे में सोचा जा सकता है। ऐसे में इंजिनियरिंग से लेकर मेडिकल, डिफेंस, टेक्नॉलजी और मीडिया जैसे तमाम क्षेत्रों में एचएससी (10+2) के बाद ही अवसर मिल जाते हैं।

शायद यही वजह है इंजिनियरिंग, मेडिकल, मैथ्स या फिर कला सभी विषयों का स्तर काफी ऊंचे रखे जाते हैं ताकि प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने वाले प्रतिभागी आसानी से उसे परीक्षा क्रैक कर सके। इसलिए इसमें भाग लेने की पात्रता 12वीं तय की गई हैं। यानी दूसरे शब्दों में कहें तो आईटी हो या मेडिकल, टेक्नॉलजी हो या फिर डिफेंस, सबके लिए बारहवीं पास होना अनिवार्य है।

सूचना प्रौद्यौगिकी

  • इन दिनों साइंस स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के लिए सूचना प्रौद्यौगिकी (आईटी) मुख्य पसंद बन गया है।
  • बढ़ती आईटी प्रफेशनल की मांग के कारण इस क्षेत्र में करियर की अपार संभावनाएं हैं।
  • बीसीए और एमसीए कर इस क्षेत्र में करियर बनाया जा सकता है।

नैनो टेक्नॉलजी

नैनो टेक्नॉलजी में इन दिनों रिसर्च एवं डिवेलपमेंट का दायरा काफी बढ़ा है। मेडिकल, फामार्सूटिकल्स, इलेक्ट्रॉनिक्स, मैग्नेटिक्स, केमिकल, अडंवास मटीरियल और उत्पादन जैसे क्षेत्रों में नैनो टे?क्नॉलजी की डिमांड बढ़ी है, जिसके लिए बारहवीं के बाद यहां जाया जा सकता है।

मेडिकल में प्रवेश

बारहवीं के बाद स्टूडेंट्स मेडिकल के क्षेत्र में बहुत कुछ कर सकते हैं। इस क्षेत्र में खुद को स्थापित करने के लिए एमएचटी-सीईटी और नीट के जरिए एमबीबीएस एवं बीडीएस डॉक्टर बनने का ख्वाब पूरा कर सकते हैं।

दमदार है डिफेंस

साल में दो बार आयोजित होने वाली एनडीए परीक्षा को पास करने के बाद छात्र सेना के तीनों ही अंगों में बतौर आॅफिसर बन सकते हैं। एनडीए के अलावा नेवी, एयरफोर्स और कोस्ट गार्ड्स में भी टेक्निकल एवं नॉन-टेक्निकल कैटिगरी के लिए एचएससी पास कर जाया जा सकता है।

वकील

  • कॉमन लॉ ऐडमिशन यानी क्लैट टेस्ट पास कर छात्र वकालत में जा सकते हैं।
  • क्लैट के जरिए ही आप 12वीं करने के बाद ही एलएलबी करने के योग्य हो जाते हैं।
  • टेस्ट का उपयोग देश के 14 नैशनल लॉ स्कूलों और यूनिवर्सिटीज के अंतर्गत अंडर ग्रैजुएट एवं पीजी प्रोग्राम के लिए किया जाता है।

आर्किटेक्चर | Employment

जिन छात्रों को रचनात्मक क्रियाकलापों में रुचि है, वे नैशनल ऐप्टिट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर पास कर आर्किटेक्चर में करियर बना सकते हैं। इस कोर्स के जरिए सरकारी एवं निजी संस्थानों में बैचलर आॅफ आर्किटेक्चर कोर्स में दाखिला मिल सकता है।

 

 

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top