[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
Breaking News

2 हफ्ते में भारतीय सेना को खदेड़ देंगे: डोकलाम पर चीन

Dokalm Dispute, Operation, Preparation, Indian Army, Threat

बीजिंग: सिक्किम के डोकलाम एरिया पर भारत से जारी विवाद के बीच चीन के एक एक्सपर्ट ने बीजिंग की तरफ से छोटे पैमाने पर मिलिट्री ऑपरेशन की आशंका जताई है। एक्सपर्ट ने कहा है, चीन डोकलाम में लंबे वक्त तक गतिरोध बने रहने की इजाजत नहीं दे सकता, इसलिए वहां से भारतीय सैनिकों को हटाने के लिए 2 हफ्तों के भीतर छोटे पैमाने पर मिलिट्री ऑपरेशन किया जा सकता है। बता दें कि सिक्किम सेक्टर में भूटान ट्राइजंक्शन के पास चीन एक सड़क बनाना चाहता है और भारत इसका विरोध कर रहा है। करीब 2 महीने से इस इलाके में भारत और चीन के सैनिक आमने-सामने हैं।

चीन-भारत का रिश्ता भाई-बहन जैसा

चीन-भारत के बीच सिक्किम के डोकलाम एरिया को लेकर विवाद जारी है। इस बीच, बीजिंग ने अपने तेवर अब कुछ नरम किए हैं। चीन के कॉन्सुल-जनरल मा झानवू ने कहा है, बॉर्डर पर शांति और धैर्य बनाए रखना दोनों देशों के लिए अहम है और हमें आपसी हितों पर फोकस करना चाहिए। झानवू ने ये भी कहा, चीन-भारत का रिश्ता भाई-बहन की तरह है, इसलिए मतभेद तो होंगे ही, लेकिन हमारे आपसी हित ज्यादा महत्वपूर्ण हैं।

क्या है डोकलाम विवाद?

ये विवाद 16 जून को तब शुरू हुआ था, जब इंडियन ट्रूप्स ने डोकलाम एरिया में चीन के सैनिकों को सड़क बनाने से रोक दिया था। हालांकि चीन का कहना है कि वह अपने इलाके में सड़क बना रहा है। इस एरिया का भारत में नाम डोका ला है जबकि भूटान में इसे डोकलाम कहा जाता है। चीन दावा करता है कि ये उसके डोंगलांग रीजन का हिस्सा है। भारत-चीन का जम्मू-कश्मीर से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक 3488 km लंबा बॉर्डर है। इसका 220 km हिस्सा सिक्किम में आता है।

भारत की क्या है चिंता?

नई दिल्ली ने चीन से कहा है कि चीन के सड़क बनाने से इलाके की मौजूदा स्थिति में अहम बदलाव आएगा, भारत की सिक्युरिटी के लिए ये गंभीर चिंता का विषय है। रोड लिंक से चीन को भारत पर एक बड़ी मिलिट्री एडवान्टेज हासिल होगी। इससे नॉर्थइस्टर्न स्टेट्स को भारत से जोड़ने वाला कॉरिडोर चीन की जद में आ जाएगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top