हरियाणा

15 जून से पहले धान की रोपाई न करें किसान

Plant, Paddy, Farmers, Insufficiency Water, Nursery, Transplant

पानी की कमी के चलते प्रदेश सरकार ने लगाई रोक

भिवानी(सच कहूँ न्यूज)। हरियाणा में एसवाईएल का मुद्दा यूं ही हावी नहीं रहता, बल्कि इसके पीछे एक मूल समस्या प्रदेश में पानी की कमी है। पानी की कमी का साफ प्रभाव साठी व धान की रोपाई पर पड़ता है। जिसके चलते पिछले तीन सालों से प्रदेश भर में साठी की रोपाई पर बैन किया गया है। इसका कारण साठी की फसल में अधिक संख्या में पानी का प्रयोग है।

प्रदेश सरकार ने प्रदेशभर में 15 जून से पहले साठी धान की रोपाई पर रोक लगाई है लेकिनधान की रोपाई के लिए नर्सरी बनाने का कार्य 15 मई से किया जा सकता है। इसके लिए किसानों ने नर्सरी बनाने का काम शुरू भी कर दिया है। हालांकि उन्होंने कहा कि भिवानी जिला में धान की रोपाई नाममात्र की होती है, क्योंकि भिवानी मरूस्थली क्षेत्र है।

उन्होंने कहा कि धान की रोपाई समय से पहले यदि कोई किसान करता है तो स्थानीय एडीए को की जा सकती है, परन्तु उन्हे अभी तक उन्हे कोई भी शिकायत नहीं मिली है। क्योंकि भिवानी जिला धान रोपाई वाला जिला नहीं है।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top