पंजाब

अस्पताल में गंदगी के ढ़ेर, कैसे स्वस्थ होंगे मरीज?

Dirt, Hospital, Patient, Healthy, Negligence, Punjab

लापरवाही: मरीजों के परिजनों के बैठने के लिए भी नहीं साफ जगह

बरनाला(जसवीर सिंह)। बरनाला के डिप्टी कमिश्नर की ओर से चाहे शहर को सुंदर बनाने हित सार्वजनिक स्थानों पर बाल पेंटिंग के द्वारा शहर को सुंदर बनाने का निमंत्रण दिया जा रहा है परंतु दूसरी ओर लोगों को रोग मुक्त करने वाले शहर के सरकारी स्वास्थ्य विभागों में ही जगह-जगह लगे गंदगी के ढ़ेर बीमारियां बांटते नजर आ रहे हैं।

बात स्थानीय सिविल अस्पताल की है जिसके वार्ड नंबर 2 और 3 के आस-पास मरीजों के परिजनों के आराम करने हित बनाऐ गए पार्कों में इस समय वृक्षों/पौधों की कटाई के बाद टहनियां, पत्ते, पार्क में से उखाड़ा गया घास-फूस और अस्पताल के मुख्य बड़े पार्क में वृक्षों की टूटी टहनियां ढ़ेरियों के रूप में पड़ी है।

सीवरेज बंद होने के कारण पार्क में भरा बदबूदार पानी

मरीजों के परिजनों की ओर से बचा खाना, दवाओं के खाली पत्ते, पैकेट दूध के खाली लिफाफे उचित जगह पर फेंकने की बजाय पार्कों के कोनों में ही फेंक दिए जाते हैं, जिसके चलते धीरे-धीरे गंदगी का ढेर लग जाता है।

इसके अलावा वार्ड नंबर 2 के पिछली ओर सीवरेज बंद होने के कारण सीवरेज का बदबूदार पानी वार्ड के पार्क में भर जाने के कारण अभी भी वार्ड के आसपास खड़ा है, जिस कारण मरीजों को अपना इलाज करवाने में परेशानी आ रही है। सिविल सर्जन के दफ़्तर की ओर जाते रास्ते में भी कूड़े का ढेर पड़ा है।

सिविल सर्जन कार्यालय की ओर जाते रास्ते में भी लगे हैं कूड़े के ढ़ेर

अपने मरीजों की देख-रेख के लिए रुक हरजीत सिंह, दलजीत सिंह, अशोक कुमार, पवन चंद, मलकीत कौर, शिंदो आदि ने बताया कि वह पिछले कई दिनों से अपने मरीजों की देख-रेख के लिए सिविल अस्पताल में मरीजों के साथ हैं,

अस्पताल के ब्लॉक हुए सीवरेज के चलते पार्क में जमा हुए गंदे बदबूदार पानी ने उनके मरीजों को और बीमार कर दिया है। उन्होंने यह भी बताया कि तकरीबन 4 दिन पहले पार्क के आसपास लगे वृक्षों और पार्क के घास-फूस की कटाई की गई थी जो अभी तक उठा कर किसी उचित जगह पर नहीं फेंका गया, जिसके चलते न सिर्फ गंदगी बढ़ रही है बल्कि मच्छर -मक्खियां भी पैदा हो रही हैं, जो बीमारियों का कारण बनतीं हैं।

अस्पताल में हों सफाई के पुख्ता प्रबंध

परिजनों ने कहा कि अस्पतालों में लोग अपने इलाज के लिए आते हैं, परंतु अस्पताल खुद ही अपने इलाज का इंतजार रहा है। मरीजों के परिजनों ने मांग की है कि अस्पताल में साफ-सफाई के पुख़्ता प्रबंध किए जाने चाहिए जिससे मरीज जल्दी तंदरुस्त हो सकें।

स्वच्छता की ओर ध्यान दें डीसी: कलालमाजरा

उक्त समस्या बाबत देहाती मजदूर सभा के जिला जनरल सचिव भोला सिंह कलाल माजरा ने कहा कि महंगा इलाज करवाने में असमर्थ ज्यादातर जरूरतमंद परिवार ही सिविल अस्पताल में अपने इलाज हित आते हैं, जो अपना इलाज गंदगी भरे माहौल में करवाने के लिए मजबूर होते हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें यह भय सताता रहता है कि एक बीमारी का इलाज करवाने के चक्कर में गंदगी के चलते दूसरी बीमारी में न ले जाएं।

उन्होंने कहा उपायुक्त की ओर से शहर की सुंदरता के साथ-साथ सिविल अस्पताल की सुंदरता और स्वच्छता की ओर भी ध्यान देना चाहिए। उक्त मामले के बारे में सीएमओ संपूर्ण सिंह के साथ संपर्क करने पर उन्होंने बात करना मुनासिब नहीं समझा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top