अन्य खबरें

मंदबुद्धि व्यक्तियों के लिए फरिश्ता बने सेवादार

Dera Sacha Sauda, Welfare work, Retarded Persons, Gurmeet Ram Rahim

सरसा (मनदीप)। रूहानी सत्संग के दौरान ब्लॉक संगरिया, हनुमानगढ़, केसरीसिंहपुर व श्रीमुक्तसर साहिब की साध-संगत 10 मंदबुद्धी व्यक्तियों को पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां से पावन आशीर्वाद दिलाने लेकर पहुंची। गौरतलब है कि संगरिया की साध-संगत 5, हनुमानगढ़ की साध-संगत एक व श्रीमुक्तसर साहिब की साध-संगत 4 मंदबुद्धि व्यक्तियों की अपने-अपने नामचर्चा घरों में संभाल कर रही है।

  • संगरिया, हनुमानगढ़, श्रीमुक्तसर साहिब व केसरीसिंहपुर की संगत ने पूज्य गुरु जी से लिया आशीर्वाद
  • डेरा श्रद्धालुओं का भलाई कार्यों की तरफ बढ़ रहा कारवां
  • पिछले कई महीनों से नामचर्चा घरों में संभाल कर रही है साध-संगत

जानकारी के अनुसार ब्लॉक संगरिया के जिम्मेवार लालचंद इन्सां ने बताया कि वह इस वक्त चार मंदबुद्धि व्यक्तियों की सेवादार सरवन इन्सां, बनारसी दास इन्सां व श्रीराम संभाल कर रहे हैं। साध-संगत में उनका इलाज भी करवा रही है। उन्होंने बताया कि नटवर लाल नाम का मंदबुद्धि, जो रासूवाला नहर के पास घूम रहा था।

जिसे साध-संगत पिछले आठ महीने से संगरिया नामचर्चा घर में संभाल रही है। मंदबुद्धि नवल किशोर, जो गांव कुलचन्द्र में घूम रहा था। साध-संगत उसकी पिछले दस दिन से संभाल रही है। संगरिया के गांव रत्नपुरा में मंदबुद्धि रिंकू, जिसे साध-संगत तीन दिन व एक अन्य मंदबुद्धि राजू अग्रवाल को साध-संगत पिछले तीन महीने से संभाल रही है। मीछा नामक मंदबुद्धि की भी साध-संगत पिछले चार महीने से संभाल कर रही है।

सेवादारों की संभाल में नाई विनोद हांडा, सुरेन्द्र जग्गा, पवन इन्सां, ट्रिंकल इन्सां, ब्लॉक भंगीदास कृष्णा दास, जसविन्द्र इन्सां, भोला सिंह, प्रेम, शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग के जिम्मेवार महेश इन्सां, अमरनाथ पेंटर, पवन सिंगला, लवली गर्ग, गुरचरण, रणबीर, निंदी सोनी, रोकी गर्ग व गोबिंद सोनी शामिल हैं। इसके साथ ही ब्लॉक हनुमानगढ़ के स्थानीय नामचर्चा घर में साध-संगत मंद्धबुद्धी पूजा रानी की सार-संभाल कर रही है।

वहीं श्रीमुक्तसर साहिब की साध-संगत चार मंदबुद्धि व्यक्तियों की संभाल कर रही है। जिनमें काली को एक सप्ताह से, पप्पू को पांच महीने, जतिन्द्र कुमार को साढ़े पांच महीने व हकीब लाल को एक माह से संभाल रही है। उक्त मंदबुद्धियों के ईलाज में फरीदकोट के चिकित्सक हरीश अरोड़ा पूरी मदद कर रहे हैं।

उनकी सेवा में बग्गा सिंह, सुखदेव सिंह, अशोक कुमार, रवि, संदीप, 15 मैंबर गुरप्रीत, ब्लॉक भंगीदास भूपेन्द्र मोंगा, मिस्त्री गुरजंट, सुरजीत सिंह, पवन कुमार, सरबजीत इन्सां, रमेश इन्सां, गोरा, रेशम सिंह, मंगत राम, 15 मैंबर केवल कुमार, जिम्मेवार केवल कृष्णा शामिल हैं।

श्रद्धालुओं ने परिजनों से मिलवाए मंदबुद्धि

पूज्य गुरु जी के पावन वचनों पर अमल करते हुए ब्लॉक केसरीसिंहपुर की साध-संगत ने दो मंदबुद्धि व्यक्तियों को परिजनों से मिलवाया। मध्य प्रदेश के पीरबख्श, जो एक साल से लापता था। साध-संगत ने उसे पीरबख्श को उसके बेटे शकील मोहम्मद, मकबूल को सौंपा। इसके अलावा हनुमानगढ़ की पार्वती, जो छह महीने से लापता थी। साध-संगत ने उक्त मंदबुद्धि महिला को उसके परिवार के सदस्य संजय कुमार, गणेश, उमादेवी के सुपुर्द किया। सेवादारों में हैप्पी, तरूण, साहिब, जतिन, महेन्द्र, गोबिंद शामिल हैं।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top