पंजाब

परिजनों के हक में डटे किसान, जीटी रोड जाम

Death, Case, Dowry, Farmer, Police, Punjab

दहेज के लिए विवाहिता की मौत का मामला

पुलिस पर कार्रवाई न करने के आरोप लगाए

भटिंडा। दहेज के लिए विवाहिता को आग लगाकर मौत की नींद सुला देने के विरोध में शुक्रवार को मृतका के परिजनों व भारतीय किसान यूनियन सिद्धूपुर तथा बीकेयू डकौंदा ने भटिंडा के सिविल अस्पताल के बाहर जीटी रोड़ पर जाम लगाकर रोष रोष प्रदर्शन किया। इस रोष स्वरूप मृतका के परिजनों ने पुलिस पर आरोपियों के खिलाफ कारवाई न करने तथा आरोपियों की सुरक्षा करने का आरोप लगाया। इस मौके पर आक्रोशित हुए लोगों ने पंजाब पुलिस पर न कारवाई पर नारेबाजी भी की।

आप विधायक भी धरने पर बैठी

इस दौरान आम आदमी पार्टी की विधायक रुपिंदर कौर रूबी भी पीड़ित परिवार की हिमायत में धरनास्थल पर पहुंची। रोष प्रदर्शन के दौरान मृतका को इंसाफ दिलाने के लिए किसान यूनियन के नेताओं व विधायक रूबी ने पीड़ित परिजनों का साथ देते हुए पुलिस पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए नारेबाजी की।

गिरफ्तारी न होने तक धरना देंगे

भाकियू सिद्धूपुर की अमरजीत कौर ने कहा कि लगभग आठ दिन से विवाहिता लुधियाना के अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल थी। इस दौरान पुलिस विभाग की ओर से किसी भी अधिकारी ने कारवाई करने की जहमत नहीं उठाई। उन्होंने कहा कि जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होती तब तक धरना जारी रहेगा।

पेट्रोल छिड़कर खुद को लगाई आग

जानकारी देते हुए मृतका के दादा बेदांत सिंह वासी कोटशमीर ने बताया कि सुखप्रीत कौर पुत्री पाशा सिंह की शादी लगभग 11 वर्ष पहले सतनाम सिंह पुत्र रेशम सिंह वासी जंडावाला के साथ हुई थी। शादी के दौरान उन्होंने अपनी पौती को दहेज के तौर पर हर प्रकार का सामान इत्यादि दिया था। ससुराल वालों ने पैसों के लालच में खुशप्रीत कौर को मायके परिवार वालों से और पैसे मांगने के लिए मजबूर करते हुए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

31 मई को सुखप्रीत कौर के ससुराली परिवार ने उसके ऊपर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दिया जिस कारण वह गंभीर रूप से झुलस गई। गंभीर हालत में उसे ईलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया। पारिवारिक सदस्यों ने उसे ईलाज के लिए लुधियाना के डीएमसी में दाखिल करवाया जहां गत दिनों उपचार दौरान उसकी मौत हो गई।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top