[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
राजस्थान

अनूपगढ़ जिला बनाओ की मांग पर समिति का धरना जारी

Committee, Protest, State, Demand, Government, Rajasthan

 2000 दिन पूरे होने पर अन्य मंडियों में भी लगेगा धरना

अनूपगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। उपखण्ड कार्यालय के सामने अनूपगढ़ को जिला बनाने की मांग पर चल रहा धरना शनिवार को 1997वें दिन भी जारी रहा। पिछले 1996 दिनों से अनूपगढ़ को जिला बनाने की मांग को लेकर शांति पूर्वक तरीके से आंदोलन चलाया जा रहा है। इस धरने के समर्थन में जहां एक तरफ लोगों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रख कर सरकार का विरोध जताया है तो वहीं दूसरी तरफ उपवास तथा रक्तदान शिविर लगाकर भी अनूपगढ़ को जिला बनाने की मांग पर सरकार का ध्यान धरने की तरफ आकर्षित करवाने के प्रयास किए गए हैं।

हालांकि राज्य सरकार की इस मुद्दें पर अभी तक सकारात्मक कार्रवाई पुख्ता रूप से सामने नहीं आई, लेकिन समिति ने आस नहीं छोड़ी है। सर्दी, गर्मी-लू की परवाह किए बिना लोग लगातार धरना स्थल पर अपनी उपस्थित दर्ज करवा रहे हैं। 31 जुलाई को इस धरने के 2000 दिन पूरे होने हैं, ऐसे में अनूपगढ़ जिला बनाओ संघर्ष समिति द्वारा उस दिन सामूहिक उपवास रखने का निर्णय लिया गया है। अनूपगढ़ जिला बनाओ संघर्ष समिति के अध्यक्ष सुरेश बिश्नोई तथा व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारियों की बैठक में सामूहिक उपवास का निर्णय लिया गया था।

31 जुलाई को व्यापार मंडल से उपवास रखने वालों का जुलूस मुख्य बाजार से होते हुए धरना स्थल पर पहुंचेगा। संघर्ष समिति के अध्यक्ष बिश्नोई ने 31 जुलाई के दिन अधिक से अधिक लोगों को धरना स्थल पर पहुंचने की अपील की है। शनिवार को 1996 वें दिन धरने पर संघर्ष समिति के अध्यक्ष सुरेश बिश्नोई, सुखविंद्र सिंह, बोहड़ सिंह, विनोद, प्रेम लेघा, जरनैल सिंह जम्मू, प्रीतम सिंह, गिरधारी सिंह, आंनद कुमार, श्रवण कुमार, प्रभु, सतनाम चौहान सहित अन्य लोग बैठे।

अन्य कस्बों में भी धरने की तैयारी

अनूपगढ़ को जिला बनाने की मांग पर प्रस्तावित जिले के अन्य कस्बों में भी धरना लगाने की तैयारी की जा रही है। हालांकि यह धरना एक दिन के लिए होगा, लेकिन मांग को तेज करने एवं सरकार को जगाने की मुहिम में अब दूसरे कस्बों के लोग भी जागरूक होकर अपने क्षेत्र के विकास में भागीदार बनने की तैयारी में जुट गए हैं। एक दिन के लिए लगाया जाने वाला धरना अनिश्चितकाल में भी तबदील किया जा सकता है।

संघर्ष समिति के अध्यक्ष सुरेश बिश्नोई ने जानकारी देते हुए बताया कि रामसिंहपुर में सुदर्शन आहुजा, बाघ सिंह मल्ली, तरसेम मितल तथा संजय चुघ के नेतृत्व में जिले की मांग पर धरना लगाकर उपवास रखा जाएगा। उन्होंने बताया कि रावला से भी व्यापार मंडल अध्यक्ष रामकुमार सिहाग के नेतृत्व में तहसील कार्यालय के सामने धरना लगाकर सामूहिक उपवास रखा जाएगा।

आमजन की परेशानी को नहीं समझ रही सरकार

अनूपगढ़ को जिला बनाने की मांग अनूपगढ़ ही नहीं बल्कि मंडी 365 हैड़ तक के लोग कर रहे हंै। अनूपगढ़ की जनता के साथ-साथ अन्य मंड़ियों के लोगों ने भी धरने को अपना समर्थन दिया है, फिर चाहे मामला अपने प्रतिष्ठान बंद करने का हो या अनूपगढ़ धरने पर आकर अपनी उपस्थिति दर्ज करवाने का। अनूपगढ़ से वर्तमान में श्रीगंगानगर जिला मुख्यालय की दूरी 125 किमी है तथा 365 हैड़ से यह दूरी 200 किमी से भी अधिक हो जाती है।

लोगों को छोटे-छोटे कार्य के लिए पूरा दिन आने-जाने में खराब करना पड़ता है। उस पर भी कार्य होगा या नहीं, इस बात को लेकर भी गारंटी नहीं होती, ऐसे में धन तथा समय दोनों की बर्बादी होती है, बल्कि प्रताड़ना झेलनी पड़ती है। सरकार को लोगों की भावनाओं को समझ कर अनूपगढ़ को अति-शीघ्र जिला घोषित करना चाहिए।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top