हरियाणा

रंग लाया बेटियों का संघर्ष

Daughters, Brought, School, Minister Of Education, Ram Bilas Sharma, PK Dass

मान गई सरकार, 8 दिन के अनशन के बाद 10+2 तक अपग्रेड हुआ गोठड़ा सरकारी स्कूल

  • शिक्षामंत्री रामबिलास शर्मा ने जारी किए आदेश
  • सवालों से बच कर प्रैस कांफ्रेंस बीच में छोड़ कर निकले

रेवाड़ी/चंडीगढ़(सच कहूँ न्यूज)। पिछले आठ दिनों से रेवाड़ी के गोठड़ा स्कूल को अपग्रेड करने के लिए अनशन पर बैठी छात्राओं की मांग के आगे सरकार आखिर झुक गई। राज्य एवं नैशनल स्तर पर मीडिया द्वारा खबर उठाए जाने के बाद बुधवार को प्रदेश के शिक्षामंत्री ने 5 मिनट की प्रैस कांफ्रेंस बुलाकर स्कूल को 12वीं तक अपग्रेड करने का ऐलान कर दिया। लेकिन पिछले सात दिनों में सरकार इस मामले पर चुप क्यों रही, इस सवाल पर रामबिलास प्रैस कांफ्रेंस बीच में छोड़ कर निकले गए।

बता दें कि रेवाड़ी के गोठड़ा गांव के सरकारी स्कूल की छात्राएं इस स्कूल को 12वीं तक अपग्रेड करने की मांग कर रही थीं। जिस पर सरकार ने सुनवाई नहीं की। छात्राओं ने अपनी मांग को लेकर पिछले सप्ताह से अनशन शुरू कर दिया। एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी जब सरकार ने उनकी नहीं सुनी तो मीडिया में इस मामले की बड़ी सुर्खियां बन गई।

जिसके पश्चात आज प्रदेश के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा व स्कूली शिक्षा अतिरिक्त चीफ सेक्रेटरी पी.के.दास ने छात्राओं से अनशन समाप्त करने की अपील की एवं ऐलान किया कि गोठड़ा का स्कूल हाई सेकेंडरी से सीनियर सेकेंडरी के रूप में अपग्रेड कर दिया गया है। वहीं दोपहर बाद इस संबंधी नॉटीफिकेशन भी सरकार की ओर से जारी कर दिया गया।

आप क्यों नहीं गए बच्चियों से मिलने

सवाल पर बिफरे शिक्षामंत्री पत्रकारों द्वारा शिक्षा मंत्री से पूछा गया कि वे खुद उन बच्चियों से मिलने क्यों नहीं गए, क्या सरकार इतने दिन सो रही थी। इस पर शिक्षामंत्री बिफर गए और तुरंत प्रैसकांफ्रेंस छोड़ कर अपने कार्यालय में चले गए।

स्थानीय विधायक मिलने गए थे छात्राओं से

प्रैस कांफ्रेंस के दौरान पिछले एक सप्ताह से जारी अनशन के बावजूद कोई सरकारी अधिकारी उन बच्चियों से मिलने क्यों नहीं गया? इस सवाल के जवाब में शर्मा ने कहा कि बहुत से भाजपा नेता फिलहाल उसी स्कूल में हैं, साथ ही अधिकारी भी वहीं है। साथ उन्होंने कहा कि 5 दिन पहले स्थानीय विधायक इन छात्राओं से मिलने पहुंचे थे और उन्हें आश्वासन दिया गया था कि सरकार उनकी मांग जल्द स्वीकार कर लेगी। लेकिन बच्चियों ने प्रदर्शन जारी रखा।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top