दिल्ली एनसीआर

कोयला घोटाला मामला: पूर्व कोल सेक्रेटरी समेत 3 अफसर दोषी करार

Coal, Scam, Secretary, Guilty, 3Officers. Special Court, Judge, CBI

नई दिल्ली: स्पेशल कोर्ट ने कोयला घोटाला मामले में पूर्व कोयला सचिव समेत 3 अफसरों को दोषी करार दिया है। स्पेशल सीबीआई जज भरत पाराशर ने शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई की। जिन अफसरों को दोषी करार दिया गया है, उनमें पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता, कोयला मंत्रालय के पूर्व संयुक्त सचिव केएस क्रोफा और पूर्व डायरेक्टर केसी सामरिया शामिल हैं। कोर्ट ने इनको सजा सुनाने के लिए 22 मई की तारीख तय की है।

सीबीआई ने लगाया यह आरोप

मामले की सुनवाई के दौरान सीबीआई ने आरोप लगाया कि कोल ब्लॉक के लिए KSSPL की तरफ से फाइल एप्लिकेशन अधूरी थी। इस एप्लिकेशन को मंत्रालय खारिज कर देता क्योंकि यह जारी गाइडलाइंस के मुताबिक नहीं थी।

सीबीआई ने यह आरोप भी लगाया कि कंपनी ने अपनी नेट वर्थ और क्षमता के बारे में गलत जानकारी दी थी। जांच एजेंसी ने यह भी कहा कि मप्र सरकार ने इस कंपनी को कोई कोल ब्लॉक आवंटित करने की सिफारिश नहीं की थी। हालांकि कंपनी के वकील ने आरोपों को गलत बताया।

मनमोहन सिंह ने दिया था उन्हें फाइनल अप्रूवल

गुप्ता पिछले साल तब सुर्खियों में आए थे, जब उन्होंने सीबीआई कोर्ट में कहा था कि वह जमानत पर बाहर रहने के बजाए जेल में रहकर ट्रायल का सामना करना चाहेंगे क्योंकि वह अब अपने कानूनी बचाव का खर्च नहीं उठा सकते। गुप्ता ने कहा था कि उनकी अंतरात्मा ने उन्हें बताया था कि ऊपर वाला उन्हें जेल में रखना चाहता है। हालांकि बाद में उन्होंने जमानत रद्द करने के लिए दी गई अपनी एप्लिकेशन वापस ले ली थी।

गुप्ता ने कोर्ट में यह दावा भी किया था कि पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने उन्हें फाइनल अप्रूवल दिया था। हालांकि सीबीआई ने उनके दावे को खारिज कर दिया था और कहा था कि डॉ. सिंह (उस वक्त इनके पास कोयला मंत्रालय का भी प्रभार था) को इस मामले में अंधेरे में रखा गया था।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top