पंजाब

सीएम सिटी को बनाएंगे भिक्षा मुक्त शहर : परनीत कौर

Awareness, Preneet Kaur, CM, City, Beggar Free, Punjab

पॉयलट प्रोजैक्ट के तौर पर स्मार्ट क्लासों में पढ़ रहे हैं भिक्षा मांगने वाले 70 बच्चे

पटियाला(खुशवीर सिंह तूर)। पटियाला सिटी को भिक्षा मुक्त बनाने की मुहिम शुरू हो गई है। आज जिला प्रशासन और ‘हर थाह कलम’ संस्था सहित दूसरे सामाजिक संगठनों के सहयोग से शहर में बच्चों की ओर से देर शाम तक मानवीय श्रृंखला बनाकर भिक्षा मांगने और देने के विरुद्ध जागरूक किया गया। कार्यक्रम में मुख्य मेहमान के तौर पर पहुंची मुख्य मंत्री की पत्नी श्रीमती परनीत कौर ने कहा कि भिक्षा मांगना समाज में एक ऐसी बीमारी है जो कि पीढ़ी दर पीढ़ी चलती आ रही है और समाज को नकारात्मक तरीके से प्रभावित करती है। इस लिए जितने कसूरवार वह लोग हैं जो भिक्षा मांगते हैं उतने ही वह लोग भी हैं जो कि भिक्षा देते हैं। उन्होेंने विश्वास दिलाया कि एनजीओ के सहयोग से पटियाला शहर को जल्द ही भिक्षा मुक्त शहर बनाएंगे।

 9 हजार से अधिक विद्यार्थियों की ओर से मानवीय श्रृंखला बनाकर शहर को भिक्षा मुक्त बनाने की अपील

इस मौके श्रीमती परनीत कौर ने माल रोड पर बच्चों की रैली को रवाना किया जो कि केंद्रीय पुस्तकालय, से लेकर फ व्वारा चौंक के अलावा शहर के दूसरे स्थानों पर पहुंची। पूर्व विदेश मंत्री ने कहा कि यदि हम किसी भिखारे को भिक्षा देते हैं तो हम उसके परिवार के भविष्य का भी नुकसान करते हैं क्योंकि उसकी आगे वाली पीढ़ी भी मांगने के काम को ही अपना मुख्य पेशा समझती है। आज सारा दिन गर्मी और उमस के बावजूद 9हजार से अधिक स्कूली बच्चों ने एक विशाल मानवीय चेन बना कर शहर को भिक्षा मुक्त बनाने की लोगों से अपील की। डिप्टी कमीश्नर कुमार अमित और एसएसपी डॉ. एस भूपत्ति ने इस मानवीय चेन की शुरूआत प्रात:काल लगभग 9बजे की और यह कार्यक्रम देर शाम तक जारी रहा।

इस मौके बच्चों ने छोटे-छोटे ग्रुपों में पीआरटीसी की बसों में जा कर लोगों को जागरूक किया। शॉपिंग माल के बाहर बच्चों ने सारा दिन स्किट और नुक्कड़ नाटकों की प्रस्तुति दी जिसके द्वारा लोगों को भिक्षा न देने बारे जागरूक किया। कार्यक्रम की समाप्ति मौके ओमैक्स माल में आईजी एएस राय, डिप्टी कमीश्नर कुमार अमित और एसएसपी डॉ. एस भूपत्ति की हाजिरी में स्कूली बच्चों की अ‍ोर से भिक्षा के खात्मे वाले स्लोगनों वाले 6 हजार गुब्बारे छोड़े गए।

भीख मांगने वाले बच्चों को स्कूलों के साथ जोड़ने का होगा प्रयास : डीसी

उपायुक्त कुमार अमित ने पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि जिला प्रशासन की ओर से पायलट प्रोजैक्ट के तौर पर भिक्षा मांगने वाले 70 बच्चों को अलग -अलग स्कूलों की स्मार्ट क्लासों में पढ़ाया जा रहा है और कोशिश होगी कि अधिक से अधिक भिक्षा मांगने वाले बच्चों को उत्साहित करके स्कूलों में लगाया जाए। साथ ही उन्होंने यह चेतावनी भी जारी की कि भिक्षा मांगने और भिक्षा मंगवाने वालों के खिलाफ पुलिस का ऐंटी बैगिंग स्क्वायड लगातार कानूनी कार्यवाही करता रहेगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top