[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
राजस्थान

पुलिस कर्मियों व कांग्रेस कार्यकर्ताओं में तकरार

Clash, Police, Congress Workers, Memorandum, Rajasthan

कर्जमाफी की मांग को लेकर कलक्टर से मिलने गए थे कार्यकर्ता

हनुमानगढ़। किसानों का कर्ज माफ करने व फसलों की समर्थन मूल्य पर खरीद करने की मांग के संबंध में बुधवार को जिला कलक्टर से मिलने पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पुलिसकर्मियों से बीच रस्ते तकरार हो गई। कांग्रेस कार्यकर्ता कलक्ट्रेट गेट पर तैनात पुलिसकर्मियों से धक्का-मुक्की कर परिसर में घुस गए। परिसर में भी मौजूद पुलिसकर्मियों ने कार्यकर्ताओं को रोका तो वे धरना लगाकर बैठ गए। बाद में मौके पर पहुंचे प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों ने मामला शांत करवाया।

जानकारी के अनुसार भारतीय यूथ कांग्रेस कार्यकर्ता बुधवार दोपहर अध्यक्ष रेशम सिंह मानुका पंचायत समिति प्रधान जयदेव भिड़ासरा के नेतृत्व में मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित को ज्ञापन देने कलक्ट्रेट पहुंचे। जब कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट परिसर में प्रवेश करने का प्रयास किया तो गेट पर तैनात पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोक लिया तथा चार-पांच कार्यकर्ताओं को कलक्टर से मिलने के लिए जाने देने की बात कही। इस पर कार्यकर्ता भड़क गए।

उनका कहना था कि वे सभी कलक्टर से मिलेंगे। कुछ देर तक जब पुलिसकर्मियों ने जब कार्यकर्ताओं को अंदर नहीं जाने दिया तो वे पुलिसकर्मियों से धक्का-मुक्की कर कलक्ट्रेट के अंदर चले गए। परिसर में भी तैनात पुलिसकर्मियों ने उन्हें आगे जाने से रोक दिया। इस पर वे धरना देकर बैठ गए। हंगामा बढ़ता देख मौके पर उपखण्ड अधिकारी सुरेंद्र पुरोहित, पुलिस उप अधीक्षक वीरेंद्र जाखड़ मौके पर पहुंचे। उन्होंने आक्रोशित कार्यकर्ताओं से समझाइश की। करीब दस-पन्द्रह मिनट तक कार्यकर्ताओं का धरना जारी रहा। फिर वे एसडीएम को ज्ञापन सौंपने पर राजी हुए।

इन मांगों का सौंपा ज्ञापन

यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एसडीएम को सौंपे ज्ञापन में बताया कि फसलों के उचित दाम नहीं मिलने के कारण किसान की आर्थिक हालत खराब हो रही है। वह बैंकों से लिए ऋण का भुगतान नहीं कर पा रहा है। बैंक वसूली का दबाव बना रहे हैं। पंजाब, कर्नाटक सहित अन्य राज्यों की सरकारों ने किसानों का कर्ज माफ कर दिया है। उन्होंने राजस्थान के किसानों का भी कर्ज माफ करने की मांग की। साथ ही किसानों को समर्थन मूल्य 50 फीसदी लाभांश जोड़कर अतिरिक्त मूल्य प्रदान करने की मांग की। इस मौके पर गुरदीप चहल, गुरमीत सिंह, प्रमेन्द्र स्याग, सुनीता बराड़ आदि मौजूद थे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top