राजस्थान

 सड़क हादसे में कृषि पर्यवेक्षक की मौत का मामला

Case, Death, Agricultural Supervisor, Accident, Rajasthan

उग्र हुई भीड़, दो बाइक को लगाई आग

पुलिसकर्मियों पर पथराव, चार पुलिसकर्मी चोटिल

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। सोमवार रात टाउन में गांव कोहला के पास तेज रफ्तार कार की सड़क किनारे खड़े युवक में टक्कर लगने से मौत के बाद गुस्साए ग्रामीण उग्र हो गए। हादसे के बाद ग्रामीणों ने हनुमानगढ़-रावतसर हाइवे जाम कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिसकर्मियों की दो मोटर साइकिलों को आग के हवाले कर दिया। पुलिसकर्मियों पर पथराव किया। इसमें चार-पांच पुलिसकर्मियों के हल्की चोटें आई। पुलिस अधीक्षक यादराम फांसल सहित अन्य उच्चाधिकारियों के मौके पर पहुंच जाम लगाकर बैठे व पथराव करने वालों को हिरासत में लेने के आदेश देने के बाद भीड़ तीतर-भीतर हुई तथा जाम खुलवाने में सफलता मिली। ग्रामीण कार चालक को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे।

इस संबंध में देर रात टाउन थाने में दो अलग-अलग मामले दर्ज हुए। एक मामला पुलिस ने जाम लगाकर पुलिसकर्मियों पर पथराव करने आदि के संबंध में तो दूसरा मृतक के भाई की रिपोर्ट पर कार चालक के खिलाफ दर्ज किया। पुलिस ने पथराव करने वाले कई लोगों तथा कार चालक को राउंडअप कर लिया। जानकारी के अनुसार सोमवार रात करीब आठ बजे हुए हादसे में गांव कोहला के वार्ड छह निवासी कृषि पर्यवेक्षक राजकुमार (27) पुत्र लेखराम की मौत हो गई। हादसे में एक अन्य युवक घायल हो गया। इसकी सूचना पर आक्रोशित ग्रामीणों ने हादसे के बाद गांव कोहला में मुख्य मार्ग पर जाम लगा दिया। वे कार चालक की गिरफ्तारी करने की मांग पर अड़ गए।

तैनात रहा भारी पुलिस जाब्ता

सूचना मिलने पर मौके पर प्रशिक्षु आरपीएस ममता सारस्वत, टाउन थानाधिकारी मोहम्मद अनवर, जंक्शन थानाधिकारी रणवीर मीणा, सदर थानाधिकारी जगदीश प्रसाद व महिला थानाधिकारी सुभाष कच्छावा आदि मय जाब्ता पहुंचे। लेकिन भीड़ का आक्रोश कम होने की बजाए बढ़ता गया। मौके पर आरएसी का जाब्ता भी तैनात रहा। उग्र हुई भीड़ ने पुलिसकर्मियों व सरकारी गाड़ियों पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए। पथराव में टाउन थाने के सब इंस्पेक्टर प्रकाशचन्द्र, हैड कांस्टेबल राजकुमार, कांस्टेबल मनोज व महावीर के मामूली चोटें आई। इसके अलावा आक्रोशित भीड़ ने मौके पर खड़े पुलिसकर्मियों के दो सरकारी मोटर साइकिलों को आग लगा दी।

बेकाबू हुए हालात तो पहुंचे एसपी

हालात बेकाबू होते देख रात करीब एक बजे पुलिस अधीक्षक यादराम फांसल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक निर्मला बिश्नोई, पुलिस उप अधीक्षक वीरेंद्र जाखड़ व एससीएसटी सेल के सीओ भंवरलाल आदि मौके पर पहुंचे। मंगलवार को भी ग्रामीणों की भीड़ पंचायत समिति प्रधान जयदेव भिड़ासरा के नेतृत्व में थाने में जमा हो गई। एएसपी निर्मला बिश्नोई, डीएसपी वीरेंद्र जाखड़ व एससीएसटी सेल के सीओ भंवरलाल ने टाउन थाने पहुंच ग्रामीणों से वार्ता की।

मामले दर्ज, कई राउंडअप

देर रात करीब चार व पांच बजे के बीच टाउन थाने में दो अलग-अलग मामले दर्ज हुए। उप निरीक्षक जमना ने रिपोर्ट दी कि शिलीया उर्फ सुनील, दिनेश पुत्र लालचन्द वाल्मीकि, पाली पुत्र बूटाराम वाल्मीकि, राजकुमार पुत्र ईशरराम मेघवाल, जगदीश पुत्र ओमप्रकाश मेघवाल, महावीर पुत्र दलीप मेघवाल, ओमप्रकाश पुत्र रुपराम मेघवाल, चेतराम पुत्र सुरजाराम कांटीवाल, नरसीराम पुत्र सुखराम मेघवाल, देवीलाल पुत्र मंगलाराम, इन्द्रजीत मेघवाल, पप्पूराम सुथार, ओमी छींपा, कृष्ण पुत्र पूर्णचन्द व हरी पुत्र कालूराम गोदारा ने कोहला मार्ग पर हुए हादसे को लेकर सड़क जाम कर दी।

मामले की जांच महिला थानाधिकारी सुभाष कच्छावा कर रहे हैं। इस मामले में कईयों को राउंडअप कर पूछताछ की जा रही है। वहीं सुरेन्द्र कुमार (32) पुत्र लेखराम मेघवाल निवासी कोहला ने रिपोर्ट दी कि सफेद रंग की स्विफ्ट डिजायर कार नंबर पीबी 60 ए 6713 के चालक डॉ. अमन ने वाहन को तेज गति व लापरवाही से चलाकर उसके भाई राजकुमार व जैनाराम को टक्कर मार दी। इससे राजकुमार की मौत हो गई। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top