[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
पंजाब

भ्रष्टाचार अधिकारी व दो इंस्पेक्टरों पर मामला दर्ज

लिफ्टिंग की पेमेंट करवाने के बदले मांगी 25 लाख रुपए की रिश्वत

  • फिलहाल तीनों अधिकारी फरार बताए जा रहे हैं

मानसा (सुखजीत मान)। ट्रक आॅपरेटरों की बकाया पेमेंट करवाने के बदले रिश्वत मांगने वाले जिला फूड स्पलाई कंट्रोलर सहित दो इंस्पेक्टरों के खिलाफ उपायुक्त मानसा की हिदायत पर थाना सिटी-2 पुलिस ने भ्रष्टाचार एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। मामला दर्ज होने के बाद से तीनों इंस्पेक्टर फरार बताए जा रहे है।

पहले भी डेढ़ लाख रिश्वत ली

बताया जा रहा हे कि डीएफएससी के खिलाफ डीसी मानसा के पास रिश्वत मांगने, कुछ व्यक्तियों से इनोवा गाड़ी मांगने की शिकायतें पहुंची थी। ट्रक यूनियन मानसा पांच सदस्यीय कमेटी के मेंबर चन्द्र मोहन व अन्य ने डिप्टी कमिशनर मानसा को दी गई शिकायत में बताया था कि साल 2017-18 की लिफ्टिंग के टैंडर यूनियन की पांच मेंबरी कमेटी की और से डाले गए थे।

इसके अलावा कुछ पेमेंट भी बकाया था तथा इन पेमेंटों का भुगतान करने के बदले डीएफएससी तरविंदर सिंह चौपड़ा, इंसपेक्टर सर्बजीत सिंह, रविंदर सिंह द्वारा उनसे 25 लाख रुपए की मांग की गई। जवकि यूनियन के मेंबरों से भी पहले टैंडर पास करवाने के बदले डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत इन इंस्पेक्टरों को दे चुके है तथा अब उनके द्वारा फिर रिश्वत मांगी जा रही है जो वह नहीं दे सकते है।

उपायुक्त ने लिया एक्शन

डिप्टी कमिशनर धर्मपाल गुप्ता ने बताया कि इस शिकायत की जांच करवाने के लिए एसएसपी मानसा को सिफारिश की गई थी। उन्होंने बताया कि उक्त अधिकारी के खिलाफ पहले भी रिश्वत मांगने जैसी कई शिकायतें उनके पास आई थी। एसएसपी मानसा के आदेश पर स्पेंशल ब्रांच के डीएसपी बलविंदर सिंह द्वारा मामले की जांच के दौरान इन तीनों इंस्पेक्टरों को रिश्वत लेने का आरोपी पाया गया।

जिसके बाद थाना सिटी-2 की पुलिस ने ट्रक आपरेटर यूनियन के मेंबर चंदर मोहन की शिकायत पर डीएफएससी तरविंदर सिंह चौपड़ा, इंस्पेक्टर सर्बजीत सिंह रविंदर सिंह के खिलाफ भ्रष्टाचार एक्ट तहत मामला दर्ज किया गया है। मामले की जांच डीएसपी बलविंदर सिंह कर रहे है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top