पंजाब

कैप्टन ने ली थाना प्रभारियों व उपायुक्तों की बैठक

Deputy Commissioners, Captain, Meeting, Police Station Incharge, Punjab

कर्मचारियों की ड्यूटी का मूल्यांकन करने के आदेश, डीजीपी को दिए निर्देश

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। Captain Meeting राज्य में कानून व्यवस्था में सुधारने को लेकर सोमवार को कैप्टन अमरेन्द्र सिंह एक बार फिर से सुरक्षा सुनिश्चित करने को लेकर गंभीर दिखे। आज उन्होंने सभी जिला के उपायुक्तों व थाना प्रभारियों की बैठक ली।

अब ‘अनावश्यक ड्यूटी’ व ‘सुरक्षा’ पर चलेगी कैंची

इस दौरान कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने निर्देश दिए कि जो भी पुलिस कर्मी गैर जरूरी ड्यूटी निभा रहे हैं उन्हें वापिस बुलाया जाए और उनकी गिनती करने को कहा। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि उनकी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के मद्देनजर बड़े पुलिस सुधार लागू करने का फैसला किया है। यह वायदा कांग्रेस पार्टी ने अपने चुनाव घोषणा पत्र में भी किया था।

थानों की मंगवाई रिपोर्ट Captain Meeting

मुख्यमंत्री ने डिवीजन कमिश्नरों, डिप्टी कमिश्नरों, पुलिस कमिश्नरों व पुलिस प्रभारियों को पुलिस स्टेशनों की सीमाएं तुरंत तर्कसंगत बनाने के लिए कार्य करने व इस संबंधी प्रस्ताव दो सप्ताह में गृह विभाग को भेजने के लिए कहा है। क्षेत्र इंचार्ज प्रणाली तुरंत समाप्त करने के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि सरकार ने कार्य कुशलता को बढ़ाने के लिए पुलिस थानों व सब-डिवीजनों के क्षेत्रों को पुन: ढांचागत करने का निर्णय लिया है।

Captain Meeting घंटों के हिसाब से ड्यूटी करेगी पुलिस

कैप्टन ने पुलिस कर्मचारियों के कार्य घंटे निर्धारित करने के लिए कहा। पुलिस थानों और पुलिस पोस्टों पर कार्य करने वाले कर्मचारियों पर विशेष बल दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने इस कारण पुलिस कर्मचारियों, आपातकालीन ड्यूटी के अतिरिक्त ड्यूटी घंटे निश्चित करने का फैसला किया है ताकि उनके कार्य स्थिति में सुधार लाया जा सके और वह अपने परिवारों की तरफ ध्यान दे सकें।

डीजीपी को सौंपेगे रिपोर्ट

राज्य पुलिस ने विभिन्न लोगों को मुहैया करवाई गई सुरक्षा का जायजा लेने के लिए पहले डीजीपी कानून व्यवस्था की अध्यक्षता के तहत राज्य स्तरीय जायजा कमेटी एसएलआरसी स्थापित की है। इस कमेटी को संवैधानिक, सार्वजनिक पदाधिकारियों, अधिकारियों व प्राईवेट व्यक्तियों को मुहैया करवाई गई सुरक्षा का व्यापक जायजा लेने का कार्य सौंपा गया है। यह कमेटी विशेष सिफारिशों के साथ अपनी रिपोर्ट 24 मार्च, 2017 तक राज्य के महानिदेशक पुलिस सुरेश अरोड़ा को सौपेंगी।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top