देश

पिता-पुत्र का बेरहमी से कत्ल

Brutal, Murder, Father And Son, Crime, Field, Deadbody

हत्यारों ने खेतों में फेंके शव

गाँव में रंजिशन हो चुकी हैं 18 हत्याएं

रोहतक (सच कहूँ न्यूज)। सांपला थाना के अंतर्गत गाँव खरावड बाईपास स्थित रिंग रोड पर चाय की दुकान चलाने वाले एक पिता पुत्र की देर रात अज्ञात हमलावरों ने बेहरमी से ईट, पत्थर व लोहे के सरिया मारकर हत्या कर दी और बाद में हमलावर शव को रिंग रोड के नीचे खेतों में फेंक गए। घटना की सूचना मिलते ही सांपला पुलिस व अपराध जांच शाखा की टीम मौके पर पहुंची और इस बारे में जांच पड़ताल की। बाद में पुलिस अधीक्षक ने भी घटना स्थल का निरीक्षण किया और जांच टीमों को विशेष दिशा निर्देश दिए। प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई है कि हो सकता है कि पुरानी रंजिश के चलते वारदात को अंजाम दिया है।

परिजनों ने शव लेने से किया इंकार

पुलिस ने इस संबंध में अज्ञात हमलावरों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। घटना के विरोध में परिजनों ने पोस्टमार्टम हाउस के बाहर जमकर हंगामा किया और शव लेने से इंकार कर दिया। परिजनों का कहना है कि पहले आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए। डीएसपी ने मौके पर पहुंचे परिजनों से बातचीत की, लेकिन परिजन नहीं माने। समाचार लिखे जाने तक परिजन शव न लेने की जिद पर अड़े हुए थे।पुलिस के अनुसार सोमवार सुबह कुछ राहगीरों ने दिल्ली हिसार बाईपास के गांव खरावड स्थित रिंग रोड पर खेत में दो शव पड़े देखे। लहुलुहान हालत में शव पड़े होने की सूचना राहगीरों ने पुलिस को दी। सूचना मिलते ही सांपला पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में ले लिया। शव की शिनाख्त गाँव कारौर निवासी श्रीभगवान व उसके बेटे कप्तान के रूप में हुई।

पुलिस उपाधीक्षक परिजनों को मनाने में जुटे

पुलिस द्वारा सूचना मिलने पर मृतक के परिजन भी मौके पर पहुंच गए। परिजनों ने पुलिस को बताया कि श्रीभगवान ने रिंग रोड पर चाय की दुकान खोल रखी है और उसका बेटा कप्तान अपने पिता के साथ काम करता था और वह देर रात घर से दुकान पर गए थे। इसी दौरान सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक पंकज नैन भी मौके पर पहुंचे और घटना स्थल का निरीक्षण किया। प्रारंभिक जांच पड़ताल के आधार पर पुलिस मामले को रंजिश मान रही है।पुलिस की एक टीम ने गाँव में जाकर इस बारे में जांच पड़ताल की और ग्रामीणों से पूछताछ की।

गांव में स्थिति को देखते हुए पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। परिजनों ने पोस्टमार्टम के बाद शव लेने से इंकार कर दिया है। परिजनों का कहना है कि पहले आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए। पुलिस उपाधीक्षक परिजनों को मनाने में जुटे है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top