अन्य खबरें

मणिपुर में बीजेपी ने जीता विश्वास मत, 33 विधायकों का समर्थन

BJP wins floor test. 28 सीटें जीतकर कांग्रेस सरकार नहीं बना पाई

 नई दिल्ली।  BJP wins floor test. गोवा के बाद मणिपुर में भी BJP सरकार ने बहुमत साबित कर दिया है। मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने सोमवार को विधानसभा में फ्लोट टेस्ट पास कर लिया। 60 सदस्यों वाली विधानसभा में 33 विधायकों ने उनकी सरकार को समर्थन दिया। साथ ही BJP के यमनम खेमचंद सिंह को विधानसभा का स्पीकर चुना गया है। बिरेन सिंह ने 16 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। मणिपुर में पहली बार BJP की सरकार बनी है।

यहां-यहां से मिला समर्थन

इसके पहले BJP ने गुरुवार से ही एक निर्दलीय और एक तृणमूल कांग्रेस के विधायक समेत अपने सभी विधायकों को गुवाहाटी के एक होटल में रखा हुआ था। BJP सरकार में मुख्यमंत्री बिरेन सिंह को मिलाकर कुल दो BJP विधायक ही मंत्री बनाए गए हैं। जबकि एनपीपी के चार, एनपीएफ-एलजेपी के एक-एक और BJP जॉइन करने वाले एक कांग्रेस विधायक को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है।

BJP wins floor test.  कांग्रेस सरकार बनाने में पिछड़ी

BJP ने विधानसभा चुनाव में 21 सीटें जीती थीं और वह दूसरी सबसे बड़ी पार्टी थी, लेकिन छोटी पार्टियों और निर्दलीयों की मदद से उसने मणिपुर में अपनी पहली सरकार बना ली। 28 सीटें जीतकर सबसे बड़ा दल बनी कांग्रेस सरकार नहीं बना पाई। बता दें कि 11 मार्च को आए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद ही BJP अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया था कि BJP पांच में से चार राज्यों में सरकार बनाएगी। गोवा और मणिपुर में सबसे बड़ा दल न होने के बावजूद दोनों राज्य BJP की झोली में चले गए।

नाकेबंदी खत्म

इस बीच, मणिपुर में करीब पांच महीने से जारी यूनाइटेड नगा काउंसिल (यूएनसी) की आर्थिक नाकेबंदी रविवार को मध्यरात्रि के बाद खत्म हो गई। केंद्र, राज्य सरकार और नगा समूहों की बातचीत के बाद कहा गया, यूएनसी नेताओं को बिना शर्त रिहा किया जाएगा और आर्थिक नाकेबंदी को लेकर नगा जनजातीय नेताओं और छात्र नेताओं के खिलाफ चल रहे मामलों को खत्म किया जाएगा। नाकेबंदी करीब 130 दिनों से चल रही थी।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top