हरियाणा

भाजपा: फूट की खबरों को मंत्रियों ने सिरे से नकारा

BJP, Anil Vij, Suraj Kund, Fake News

कहा विधायक, मंत्री सब मिलकर बढ़ा रहे हैं सरकार को आगे

ChandiGarh, Anil Kakkar: गत दिनों सूरजकुड में हुई मंत्रीमंडल की बैठक में मंत्रियों द्वारा ब्यूरोक्रेसी के ज्यादा हावी होने के आरोप में मुख्यमंत्री को खरी-खोटी सुनाने तथा एक-आध मंत्री के मीटिंग बीच में ही छोड़ निकल जाने की खबरों को मंत्रियों ने सिरे से नकार दिया। मीडिया में आई कुछ रिपोर्ट्स को उन्होंने केवल राजनैतिक समाचार जिसका कोई आधार नहीं है करार दे दिया। वहीं इन रिपोर्ट्स के आधार पर विपक्षी नेताओं ने फिर से सरकार को घेरने की तैयारी कर ली है।

बता दें कि सोमवार को कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि प्रदेश के कैबिनेट की गत दिनों सूरजकुंड में हुई बैठक के दौरान बकौल रिपोर्ट खेल मंत्री अनिल विज, कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़, शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा तथा वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल पर विभागीय कार्रवाइयों में सहयोग न करने तथा सिर्फ मुख्यमंत्री की घोषणाओं की फाइल पर ही काम होने व अन्य फाइलों पर काम न होने की शिकायत भी की।

मीटिंग के दौरान मंत्रियों का पारा कई बार चढ़ा। इसी रिपोर्ट के अनुसार खेल मंत्री मुख्यमंत्री से खफा होकर बीच में से ही मीटिंग छोड़ कर निकल गए। खैर इन खबरों पर आज दिन भर राजनैतिक गलियारों में चर्चा रही है और उम्मीद है कि आने वाले दिनों में इन पर चर्चा और बढ़ेगी।

सूरजकुंड में ऐसा कुछ नहीं हुआ

ये बेबुनियाद खबरें है इनका कोई आधार नहीं है। सूरजकुंड की मीटिंग में ऐसा कुछ नहीं हुआ। वहां हर किसी ने अपनी बात बिल्कुल मर्यादा में रखी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अगुवाई में प्रदेश दिन-रात आगे बढ़ रहा है।
कैप्टन अभिमन्यु, वित्त मंत्री

खबर में जो लिखा है वो मेरा नेचर ही नहीं

‘‘कभी सुना है कि मैं गुस्से में हूं और मीटिंग छोड़ के चला जाऊं। मैं अगर गुस्से में हूँ तो मैं आगे बढ़ता हूँ अपनी बात कहने के लिए वहां से जाता नहीं। ये मेरा नेचर है। और खबर बिल्कुल मेरे नेचर के ही उल्ट लिखी गई है कि मैं मीटिंग से बीच में उठ कर चला गया।’’ ये राजनैतिक खबर है जिसका कोई आधार नहीं है। सूरजकुंड की मीटिंग में ऐसा कुछ हुआ ही नहीं जो इन खबरों में लिखा गया है।
अनिल विज, स्वास्थ्य मंत्री

दक्षिणी हरियाणा के विधायक भी दिखा चुके नाराजगी

मंत्रीमंडल में कथित फूट की खबरों से जहां राजनैतिक गलियारों में नया घमासान छिड़ने के आसार हो गए हैं। क्योंकि भारतीय जनता पार्टी के दक्षिणी हरियाणा के दर्जन भर विधायक पूर्व में ऐसी खबरों से सरकार की काफी किरकरी करवा चुके हैं। अपने काम न होते या देरी होता देख ये विधायक खुले तौर पर मीडिया के सामने मुख्यमंत्री एवं सरकार को कोसने से नहीं चूके थे। अब मंत्रीमंडल की बैठक से बाहर निकली इन खबरों ने विपक्ष को बोलने का एक और मौका दे दिया है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top