राजस्थान

लेके कहां कुछ वापिस जाना यह शरीर भी दान है…

Body Donate, Bhagat Singh, Sangia, Rajsthan, Dera Followers, Good Work

 मानवता के सच्चे प्रहरी बने भगत सिंह इन्सां| Body Donate Bhagat Singh

संगरिया (सुरेन्द्र जग्गा, सच कहूँ न्यूज)। धन्य होते हैं ऐसे लोग जो जीते जी तो  (Body Donate Bhagat Singh) समाज सेवा करते ही और इस जहां से रुखसत होते हुए भी इंसानियत की ऐसी अनूठी मिसाल पेश कर दुनिया के लिए प्रेरणा स्रोत बन जाते है पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां द्वारा मानवता की सेवा के लिए शरीरदान करने की प्रेरणाओं से प्रेरित होकर गांव ब्लॉक भगवानपुरा के गांव खारा खेड़ा निवासी भगत सिंह इन्सां का पार्थिव शरीर मेडिकल रिसर्च के लिए मेडिकल रिसर्च कॉलेज श्रीगंगानगर को भेजा गया। ब्लॉक भंगीदास हीरालाल इन्सां ने बताया कि गांव खारा खेड़ा निवासी भगतराम इन्सां अपनी श्वासों रुपी पूंजी पूरी कर बीती रात सचखण्ड जा विराजे उनकी अंतिम इच्छा अनुसार परिवारवालों ने उनका शरीरदान कर एक अनोखी मिसाल कायम की।

 मेडीकल रिसर्च के लिए दान दिया शरीर | Body Donate Bhagat Singh

कई वर्षों पूर्व डेरा सच्चा सौदा से नाम लेकर गुरु जी के दिखाए मार्ग पर चलते हुए घर के कार्यों को बखूबी निभाया व पूज्य गुरु जी द्वारा दिखाए मार्ग पर चलते हुए शरीरदान करने का फैसला लिया। परिवार के लोगों ने उनके फैसले का स्वागत किया। गत दोपहर को उनको अतिंम विदाई देने के लिए ब्लॉक स्तर से शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैलफेयर फोर्स विंग के सेवादार भाई बहने, रिश्तेदार, परिजन, साध-संगत व ग्रामीण उनके आवास पर एकत्रित हुए गये विनती का भजन बोलकर भगत सिंह की बेटियों गुड्डी देवी, जमना, शांति, विधा देवी पुत्र मिठू सिंह, तोतासिंह, अर्जुन सिंह ने उनकी अर्थी को कंधा दिया। हर किसी के मुख पर मानवता के सच्चे प्रहरी का नाम था और ‘भगतराम इन्सां अमर रहे.. अमर रहे..’ के नारे गूंज रहे थे और हर किसी का अपने आप सलामी के लिए हाथ उठ रहा था।

 देहदानियों की कडी में जुड़ा एक और नाम|Body Donate Bhagat Singh

भगत सिंह की शव यात्रा पूरे गांव में निकालने के बाद संगरिया के मुख्य बाजार में संगरिया की साध-संगत ने अंतिम विदाई दी। इस मौके पर संगरिया ब्लॉक भंगीदास कृष्ण सोनी इन्सां, अमनदीप सोनी, विजय चुघ इन्सां, अजय चुघ, मंदर सिंह इन्सां, रोकी इन्सां, मीनू चुघ इन्सां, अजय चुघ, मंदर सिंह इन्सां, रोकी इन्सां, मीनू इन्सां, संजय इन्सां, रणवीर इन्सां, पवन सिंगला इन्सां, निंदी सोनी इन्सां, बीरबल इन्सां, रविन्द्र इन्सां, भूपेन्द्र इन्सां,राजेन्द्र इन्सां, हरबंश इन्सां, तुलसी इन्सां, हीरालाल इन्सां, 7 मैंबर कमेटी सेवादार गुरपाल इन्सां, दर्शन इन्सां,अमरपाल इन्सां, राजेश इन्सां, गुलाब इन्सां, इन्द्रपाल इन्सां, ओमप्रकाश इन्सां 45 मैंबर कमेटी सेवादार बहन वीरपाल इन्सां के अलावा सैकड़ो की तादाद में साध-संगत मौजुद थी।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

 

लोकप्रिय न्यूज़

To Top