पंजाब

हंगामे से शुरू हुआ विधानसभा बजट सत्र का पहला दिन

Assembly, Budget Session, Ruckus, Loan, Farmer, Punjab

पूर्व डीजीपी गिल को श्रद्धांजलि देने पर भड़के अकाली

  • आत्महत्या कर चुके किसानों और नशों के कारण जान गवाने वालों को भी याद किया
  • किसानों की संपति कुर्क करने की इजाजत हरगिज नहीं दी जाएगी
  • बैंस ब्रदर्स ने भी किया सदन का बायकाट

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। पंजाब विधानसभा के बजट सेशन दौरान मुख्य शख्सीयतों को श्रद्धांजलि भेंट करने को लेकर जमकर हंगामा हुआ। शिरोमणी अकाली दल ने पूर्व डीजीपी केपीएस गिल को श्रद्धांजलि देने का विरोध किया, जबकि कांग्रेस केपीएस गिल को श्रद्धांजलि देने पर अड़िग रही। अकाली नेताओं ने सदन से वाकआउट करते हुए कांगे्रस खिलाफ नारेबाजी की।कुछ देर बाद जनहित पार्टी के विधायक सिमरजीत सिंह बैंस व बलविन्द्र सिंह बैंस ने कार्रवाई का बायकाट करते हुए बाहर चले गए।

प्रसिद्ध शख्शियतों को श्रद्धाजंलियां भेंट

मुख्यमंत्री अमरेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में आत्महत्या कर चुके किसानों, नशों के कारण जान गंवाने वालों को याद करने के साथ-साथ बिछुड़ चुकी प्रसिद्ध शख्शियतों को भी श्रद्धाजंलि भेंट की गई। बजट सत्र के पहले दिन सदन ने विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ी दस प्रसिद्ध हस्तियों को श्रद्धाजंलि दी जिन्होंने अपनी अदभूत प्राप्तियों द्वारा राज्य पर अमिट छाप छोड़ी। विधायक सभा के स्पीकर राणा कंवर पाल सिंह ने इन शख्शियतों के परिवार तक सदन का शोक संदेश पहुंचाने के लिए एक प्रस्ताव पास किया। एक सदस्य की अपील पर कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने स्पीकर को कर्जे के बोझ के कारण आत्महत्या कर चुके किसानों को भी श्रद्धाजंलि देने की अपील की जिसके लिए स्पीकर सहमत हो गए।

हर हाल में किसानों का कर्ज माफ: सीएम

मुख्यमंत्री ने किसानों का कर्जा माफ करने के लिए अपनी वचनबद्धता दोहराते हुए कहा कि हाल ही में उन्होंने कुर्की का अंत कर अपने वायदे का पूरा कर दिया है। उन्होंने कहा कि कर्जा माफी के वायदे से पीछे हटने का सवाल ही पैदा नहीं होता और उनकी सरकार शीघ्र ही किसानों के कर्ज का हल करेगी और जमीन या संपत्ति कुर्क न होने को भी यकीनी बनाएगी।

कर्ज माफी पर कर रहे हैं विचार

सदन से बाहर पत्रकारों से बाचतीत दौरान नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि सरकार कृषि कर्जो की समस्या के स्थाई हल करने के लिए विचार कर रही है। उनका उदेश्य किसानों को इतना आत्मनिर्भर बनाना है ताकि उनको भविष्य में कर्जा लेने की जरूरत ना पड़े। किसानों को भरोसा दिलाते हुए उन्होने कहा कि राज्य सरकार किसानों को अपने पैरो पर खड़ा करने के लिए हर प्रकार सहायता देगी। मंत्री ने फसली बीमे की बात भी कही जिसके बारे में सरकार विचार कर रही है ताकि संकट में घिरे राज्य के किसानों के हित सुरक्षित रखे जा सके।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top