राजस्थान

भ्रूण लिंग जांच करने वाला गिरोह पकड़ा

Arrested, Gender Investigator, Gang, Rajasthan

दो आरोपियों को भेजा जेल, जांच शुरु

  • श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ में लंबे समय से कर रहे थे धंधा
  • मिशन निदेशक नवीन जैन के निर्देशों पर हुई कार्रवाई
  • राज्य में अब तक 75 डिकॉय

श्रीगंगानगर (सच कहूँ न्यूज)। भ्रूण लिंग जांच मामले में पीसीपीएनडीटी टीम ने लगातार डिकॉय कार्रवाई करते हुए श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ के एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है। टीम ने मौके से दलाल सतनाम सिंह व छोलाछाप डॉक्टर सुरजीत सिंह को पकड़ा है, जबकि अन्य की तलाश जारी है। इस मामले में प्रथम-दृष्टया भू्रण लिंग जांच करवाने वालों से ठगी का मामला सामने आया है, क्योंकि दलाल सही सोनोग्राफी करवाने के बाद अपने स्तर पर ही गर्भ में लड़का-लड़की होना बताते थे।

पूछताछ में पता चला है कि जहां आॅबोर्शन की कमाई दिखती वहां लड़की होना बता देते, जबकि कुछेक मामलों में लड़का होना बताते। एनएचएम के मिशन निदेशक एवं पीसीपीएनडीटी के राज्य प्राधिकारी नवीन जैन के निर्देशों पर हुई इस कार्रवाई में जयपुर, श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ के सदस्य शामिल रहे। शनिवार देर रात तक चली इस कार्रवाई के बाद दोनों आरोपियों को रविवार को न्यायिक अधिकारी के समक्ष पेश किया, जहां से दोनों को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया। बहरहाल, आरोपियों के खिलाफ पीबीआई थाना में मामला दर्ज कर तफ्तीश की जा रही है।

गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई की

पीबीआई थाना के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रघुवीर सिंह ने बताया कि मुखबिर के जरिए सूचना मिल रही थी कि भू्रण लिंग जांच करने वाला एक गिरोह श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ में सक्रिय है और वे आॅबोर्शन भी करवाते हैं। इसकी पुष्टि होने पर श्रीगंगानगर की बोगस ग्राहक के जरिए दलाल अमृतपाल से संपर्क साधा, जिसने भू्रण लिंग जांच करवाने के चालीस हजार रुपए मांगे और दोनों जिलों सहित कहीं भी आस-पास जांच करवाने की बात कही।

अस्पताल में घुमाता रहा दलाल

दलाल ने शनिवार दोपहर महिला को एक गांव में बुलाया और बाद में हनुमानगढ़ जंक्शन आने का कहा। यहां दलाल स्वास्तिक अस्पताल में नियमित जांच करवाई और उसके बाद महावीर अस्पताल बुलाया। जहां महिला के सहयोगी को छोड़ महिला को बोम्बे अस्पताल बुलाया।

दलाल ने महिला को कई बार इधर-उधर अस्पतालों में घुमाता रहा और किसी के साथ नहीं होने की संतुष्टि पर उसने तय की गई राशि बोम्बे अस्पताल की लैब में दूसरे दलाल सतनाम सिंह को देने के लिए कही, जिस पर उसे रुपए दे दिए गए। इसके बाद शाम सात बजे तीसरे दलाल सुरजीत सिंह के जरिए भांभू अस्पताल में नियमित सोनोग्राफी करवाई और कुछ देर बाद नतीजा बताने की बात कही।

फिलहाल तीसरा दलाल फरार

इस दौरान इशारा पाते ही टीम ने 38 वर्षीय सुरजीत पुत्र रेशम सिंह निवासी अमरपुरा थेड़ी को मौके पर ही पकड़ लिया, जबकि बोम्बे अस्पताल की लैब से 26 वर्षीय सतनात सिंह पुत्र गुरदीप सिंह रायसिख निवासी सुरेशिया को गिरफ्तार किया। तीसरा दलाल अमृतपाल पहले ही पैसों का बंटवारा कर जा चुका था, जिसकी तलाश में उसके घर एवं अन्य ठिकानों पर दबिश दी लेकिन वह नहीं मिला।

वहीं इस मामले में बोम्बे अस्पताल संचालक एवं भांभू अस्पताल संचालक से पूछताछ और भांभू हॉस्पीटल से दस्तावेज जब्त किए गए। पूछताछ में दलालों ने बताया कि वे लंबे अर्से से यह धंधा कर रहे हैं और अपने स्तर पर ही भू्रण लिंग के बारे में बताकर वे 30 से 40 हजार रुपए में सौदा तय करते हैं।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top