पंजाब

खनन नीलामी मामले को लेकर राज्यपाल से मिले अकाली

Akali, Governor, Mining Auction Case, Punjab

राणा गुरजीत को बर्खास्त करने की मांग, सांपला ने किया नेतृत्व

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। शिरोमणी अकाली दल और भाजपा के नेताओं के शिष्टमंडल ने पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर से मुलाकात की। नेताओं ने राज्यपाल से रेत खनन नीलामी में घोटाले का आरोप लगाते हुए कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह को बर्खास्त करने की मांग की। शिष्टमंडल के नेतृत्व में शिअद अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल और भाजपा के प्रदेश प्रधान विजय सांपला ने किया।

बदनौर को सौंपा ज्ञापन

अकाली-भाजपा के संयुक्त शिष्टमंडल ने राज्यपाल को मांग पत्र सौंपा। शिष्टमंडल में अकाली-भाजपा को सभी विधायक, सांसद और कोर कमेटी के सदस्य मौजूद थे। सुखबीर बादल ने कहा कि कांग्रेस की सरकार बने अभी तीन माह का ही समय बीता है लेकिन प्रशासन से लेकर कानून व्यवस्था की स्थिति बदतर होती जा रही हैं। किसान आत्महत्या कर रहे हैं तो कैप्टन अमिरंदर सिंह के मंत्री घोटाला कर रहे हैं।

कैप्टन कर रहे हैं बचाव

सुखबीर बादल ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस के नेता अकाली-भाजपा के शासन में रेत खनन को लेकर आरोप लगाते थे। अब रेत खनन नीलामी में कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह द्वारा गड़बड़ी करने का मामला सामने आया है तो कैप्टन सरकार उनको बचाने में जुटी है।

नीलामी में हुई बंदरबांट

भाजपा के प्रदेश प्रधान व केंद्रीय मंत्री विजय सांपला ने कहा कि कैप्टन सरकार की असलियत सामने आ गया है। रेत खनन की नीलामी में जिस तरह की बंदरबांट की गई है। राणा गुरजीत सिंह के पूर्व कर्मचारियों ने जिस तरह करोड़ों रुपये में रेत खनन खड्डों की बोली ली है वह सीधे भ्रष्टाचार को दिखाता है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top