पंजाब

गेहूं खरीद के लिए ऋण बढ़ाकर 20683 करोड़ रूपए किया

Increase, Loans Wheat, Procurement, RBI, Punjab

भारतीय रिजर्व बैंक ने बढ़ाई कर्ज सीमा

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह के निरंतर प्रयासों से भारतीय रिजर्व बैंक ने शनिवार को राज्य की नगद हद ऋण (सीसीएल) बढ़ाकर के 20683 करोड़ रुपए कर दी है। इससे पहले पंजाब सरकार ने अब तक 14053.61 करोड़ रुपए की बड़ी राशि वर्तमान खरीद सीजन दौरान किसानो को अदा कर दी है।

अप्रैल तक किसानों को 14053.61 करोड़ की अदायगी की

मुख्यमंत्री ने खरीद एजेंसियों को हिदायतें की है कि वह बकाया पड़ी सारी अदायगियों को फौरी तौर पर समय से निपटाने के लिए तुंरत आवश्यक कदम उठाए। एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि कैप्टन अमरेन्द्र सिंह द्वारा गेहूं की तुंरत व निविर्घन खरीद के लिए प्रगटाई वचनबद्धता के कारण ही पंजाब सरकार ने अब तक इस वर्ष की सबसे ज्यादा 14053.61 करोड़ की अदायगी की है जबकि पिछले वर्ष यह अदायगी अप्रैल महीने दौरान 5938.21 करोड़ और अप्रैल, 2015 दौरान 947.19 करोड़ थी।

पहले इतनी अदायगी थी

सरकारी प्रवक्ता अनुसार रिजर्व बैंक ने पहले मंजूर की 17994.21 करोड़ रुपए का ऋण हद को पिछले 30 अप्रैल, 2017 से ही आगे बढ़ाते हुए 2688.79 करोड़ रुपए की अतिरिक्त राशि को मई महीने की खरीद के लिए स्वीकृति दी है। आरबीआई ने बढ़ाई हुई क र्जा हद मुताबिक खुराकी खातों के स्टाक अनुसार मिलाने को यकीनी बनाने के लिए कहा है।

प्रदेश में गेहूँ की इतनी खरीद

राज्य के वित्त विभाग के प्रमुख सचिव को लिखे पत्र में रिजर्व बैंक ने कहा कि कर्जा हद में यह बढ़ोतरी गेहंू की मौजूदा खरीद सीजन के लिए आवश्यक अदायगी को ध्यान में रखते और भारतीय स्टेट बैंके द्वारा दिये भरोसे के मद्देनजर किया गया है। सरकारी प्रवक्ता अनुसार इस वर्ष गेहूं की अब तक 11808318 मीट्रिक टन खरीद हुई है जिसमें से सरकारी एंजेसियों ने 11547340 मीट्रिक टन गेहूं खरीद है। इसमें से 11141940 मीट्रिक टन गेहूं मंडियों में सफलतापूर्वक उठाई गई है जिस के साथ ही रबी सीजन दौरान खरीद कार्य निविघ्र और तेजी के साथ सम्पूर्ण हुये है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top