अंतरराष्ट्रीय ख़बरें

जाकिर मूसा ने हिज्बुल मुजाहिदीन से तोड़ा नाता

Zakir Musa, Broke Away, Hizbul Mujahideen, Organization

कमांडर जाकिर मूसा ने संगठन छोड़ने का किया  ऐलान

श्रीनगर। हुर्रियत नेताओं ने कश्मीर मामले को ‘राजनीतिक’ बताया तो उनके सिर काटने का बयान देने वाले हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर जाकिर मूसा ने शनिवार को संगठन छोड़ने का ऐलान कर दिया। सोशल मीडिया पर जारी एक नए आॅडियो संदेश में मूसा ने कहा, ‘मेरे अंतिम आॅडियो संदेश के बाद कश्मीर में काफी उलझन हो गई है। मैं अपने बयान और संदेश पर कायम हूं।’ हालांकि, हिज्बुल मुजाहिदीन ने कहा कि मूसा के बयान से संगठन इत्तेफाक नहीं रखता। हिज्बुल के प्रवक्ता सलीम हाशमी ने कश्मीर की एक स्थानीय समाचार एजेंसी को भेजे गए एक ई-मेल बयान में कहा, ‘इस तरह का (मूसा का) बयान हमारे लिए अस्वीकार्य है।

हिज्बुल मुजाहिदीन से कोई लेना-देना नहीं

इसमें जाकिर मूसा की निजी राय झलकती है।’ हिज्बुल के बयान पर प्रतिक्रिया जताते हुए मूसा ने आॅडियो संदेश में कहा, ‘हिज्बुल मुजाहिदीन ने कहा है कि उसका जाकिर मूसा के बयान से कोई लेनादेना नहीं है। इसलिए, अगर हिज्बुल मुजाहिदीन मेरा प्रतिनिधित्व नहीं करता, तो मैं भी उनका प्रतिनिधित्व नहीं करता हूँ। आज के बाद से मेरा हिज्बुल मुजाहिदीन से कोई लेना-देना नहीं है।’

20-22 साल के मुसा ने कहा कि उसने किसी खास व्यक्ति या हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी के बारे में कुछ नहीं कहा।
उसने कहा, ‘मैंने केवल उस शख्स के खिलाफ कहा है, जो इस्लाम के विरुद्ध है और एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र के गठन के लिए आजादी की बात करता है।’ उसने कहा, ‘हम इस्लाम के लिए आजादी की जंग लड़ रहे हैं। मेरा खून इस्लाम के लिए बहेगा न कि किसी धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र के लिए।’

गौरतलब है कि शुक्रवार को सोशल मीडिया पर वायरल एक आॅडियो संदेश में जाकिर ने कहा, ‘मैं उन सभी पाखंडी हुर्रियत नेताओं को चेतावनी दे रहा हूँ। उन्हें हमारी इस्लामिक लड़ाई में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। अगर वे ऐसा करते हैं तो हम उनके सिर काटकर उन्हें लाल चौक पर लटका देंगे।’

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top